लंदन। स्वर्ण मंदिर में 1984 में चलाए गए ऑपरेशन ब्लूस्टार के विरोध में ब्रिटिश शहर लीसेस्टर में सिखों ने प्रदर्शन के दौरान महात्मा गांधी की एक प्रतिमा तोड़ दी। लंदन समेत ब्रिटेन के कई दूसरे शहरों में भी सिखों के प्रदर्शन की खबरें हैं।

बीबीसी के अनुसार, लीसेस्टर के गोल्डेन माइल में स्थित प्रतिमा के आधार पर 'कभी नहीं भूलेंगे 84 और हम न्याय चाहते हैं' लिखा गया है। पुलिस शनिवार को प्रतिमा तोड़े जाने का पता चलने के बाद जांच कर रही है। इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया में लीसेस्टर पूर्व के सांसद कीथ वाज ने कहा कि गांधी प्रतिमा को नुकसान पहुंचाना मूर्खतापूर्ण कार्य है। लीसेस्टर पुलिस ने बताया कि प्रतिमा के आधार पर लिखी बात हटा दी गई है।

करीब 30 साल पहले हुए ऑपरेशन ब्लूस्टार के विरोध में रविवार को लीसेस्टर सहित पूरे ब्रिटेन में सिखों ने प्रदर्शन किया और नारे लगाए। ब्रिटिश सिख काउंसिल के बलविंदर कौर ने कहा कि ऑपरेशन के दौरान हजारों लोग मारे गए या लापता हो गए थे।

बता दें कि छह जून 1984 में पंजाब के अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर से जरनैल सिंह भिंडरांवाले की अगुआई वाले सिख कट्टरपंथियों को निकालने के लिए तत्कालीन भारत सरकार ने सैन्य कार्रवाई की थी। जनवरी में ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रकाशित एक अवर्गीकृत दस्तावेज के ताजा खुलासे से यहां के सिखों में आक्रोश फैल गया है जिसके अनुसार ऑपरेशन की योजना में मदद के लिए ब्रिटिश अधिकारी को नियुक्त किया गया था।

पढ़े: ब्लू स्टार की बरसी पर स्वर्ण मंदिर में चली तलवारें, 12 घायल

ऑपरेशन ब्लू स्टार की यादगार के लिए जगह चुनी

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप