रोम। इटली के चार बार प्रधानमंत्री रह चुके सिल्वियो बर्लुस्कोनी की आत्मकथा से कई खुलासे हुए हैं। सिल्वियो बर्लुस्कोनी इटली के विवादित प्रधानमंत्री रह चुके हैं। मालूम हो कि सिल्वियो बर्लुस्कोनी और बुंगा-बुंगा मामला काफी विवादों में भी आया था। इसी वजह से उन्हें जेल तक जाना पड़ा था। यहां जानें सिल्वियो बर्लुस्कोनी की किताब के सात बड़े खुलासे :

एंजेला मार्केल

प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए सिल्वियो बर्लुस्कोनी के बारे में यह बात कही जाती रही कि उनके और एंजेला मार्केल के बीच कुछ ठीक नहीं था। यह बताया जाता रहा है कि 2011 में यूरो जोन की दिक्कत के समय एंजेला ने उनके खिलाफ साजिश रची थी। मगर अपनी आत्मकथा में सिल्वियो ने इन सभी बातों को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि, उनके और एंजेला के बीच सबकुछ ठीक था। उस दौरान आई सभी खबरें गलत थीं।

इराक युद्ध से परेशान थे

सन् 2003 में इराक और अमेरिका युद्ध पर उन्होंने लिखा है कि, दोनों के बीच हो रहे युद्ध से मैं काफी परेशान था। मैंने कई बार जॉर्ज बुश से मिलकर यह बताने का प्रयत्न किया कि यह युद्ध किसी तरह से रुक सके।

सिल्वियो के मुताबिक, सद्दाम पर अमेरिका के रवैये को देखते हुए गद्दाफी से भी इस बारे में संपर्क किया। मैंने गद्दाफी से स्रद्दाम को लीबिया में रहने की इजाजत देने की भी बात की। यह बात साल 2002 के अंत से लेकर 2003 की शुरुआत तक होती रही। इतना ही नहीं मैंने सद्दाम के इस मुद्दे पर गद्दाफी को मना भी लिया था।

महिलाओं के मुद्दे पर

महिलाओं के मुद्दे पर इटली के पूर्व प्रधानमंत्री सिल्वियो बर्लुस्कोनी ने लिखा है कि, मेरा बचपन से ही महिलाओं की तरफ आर्कषण था। महिलाओं के बारे में मुझे कई बार बहकाया भी गया है।

मिलन के फ्लैट पर 30 कॉल-गर्ल्स और अभिनेत्रियों के रहने की अफवाह पर :

अभिनेत्रियों और कॉल-गर्ल्स को लेकर विवाद में रहने वाले सिल्वियो ने इन सभी बातों को महज एक अफवाह ही बताया है। उन्होंने लिखा कि, जितनी महिलाओं की संख्या बताई जा रही है वह बहुत अधिक है।

बुंगा-बुंगा मामले की शुरुआत

इटली के पूर्व प्रधानमंत्री सिल्वियो ने कुख्यात बुंगा-बुंगा मामले को भी आत्मकथा में लिखा है। उन्होंने लिखा कि, बुंगा-बुंगा शब्द की शुरुआत उनके व गद्दाफी के बीच से हुई थी। दोनों के बीच बुंगा-बुंगा शब्द महज एक मजाक ही था।

मालूम हो कि, बलरुस्कोनी पर उनके मिलान विला में ‘बुंगा बुंगा’ पार्टी के दौरान एक अवस्यक यौनकर्मी को यौनसंबंधों के लिए पैसे देने और इस मामले को दबाने के लिए अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने के आरोप थे।

Posted By: Gunateet Ojha