मिलान। पैसे देकर एक नाबालिग से यौन संबंध बनाने के मामले में दोषी ठहराए गए इटली के पूर्व प्रधानमंत्री सिल्वियो बर्लुस्कोनी को मिलान कोर्ट ने सात साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उनके सार्वजनिक पद संभालने पर भी रोक लगा दी है। फिलहाल उन्हें अभी जेल नहीं जाना पड़ेगा जब तक उनकी अपील पर सजा की पुष्टि नहीं हो जाती।

पढ़ें: जानिए बर्लुस्कोनी की जिंदगी में आई महिलाओं के बारे में..

बर्लुस्कोनी को अपने पद पर रहते हुए यौन उत्पीड़न के इस मामले को दबाने में अपनी शक्तियों का दुरुपयोग का दोषी पाया गया था। कोर्ट के फैसले के बाद प्रधानमंत्री एनरिको लेंट्टा सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं क्योंकि बर्लुस्कोनी के नेतृत्व पीपुल्स ऑफ फ्रीडम [पीडीएल] के सहयोग से ही मौजूदा सरकार चल रही है। बर्लुस्कोनी एक नाइट क्लब की पूर्व डांसर करीमा इल महरोग के साथ पैसे देकर संबंध बनाने का दोषी पाया गया था। महिला जजों की तीन सदस्यीय पैनल ने 76 साल के बर्लुस्कोनी को प्रधानमंत्री रहते हुए चोरी के एक मामले में पद का दुरुपयोग कर पुलिस हिरासत में ली गई करीमा को छुड़ाने का भी दोषी ठहराया है।

कोर्ट के इस फैसले को पूर्व प्रधानमंत्री के वकील निकोलो जेदनी ने पूरी तरह से अतार्किक करार दिया है। उनका कहना है कि वह इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे। बर्लुस्कोनी को सजा सुनाए जाने के बाद प्रदर्शनकारियों के समूह ने कोर्ट के बाहर खुशी जाहिर की और राष्ट्रगान गाया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर