इस्लामाबाद (प्रेट्र)। बलूचिस्तान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जिक्र की तारीफ करने वाले ब्रह्मदाग बुगती पर पाकिस्तान में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो गया है। पाकिस्तान के अधिकारी अब उन्हें इंटरपोल के जरिये स्विट्जरलैंड से लाने की तैयारी कर रहे हैं। वह स्वनिर्वासन पर वहां रह रहे हैं। बलूचिस्तान पर पाकिस्तान के कब्जे का विरोध करने वाले बरहमदाग के दादा नवाब अकबर बुगती की 2006 में पाकिस्तानी सेना ने हत्या कर दी थी।

बलूचिस्तान के पुलिस विभाग ने गृह मंत्रालय से संपर्क करके ब्रह्मदाग के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करवाने की प्रक्रिया शुरू करने का अनुरोध किया है। इस नोटिस के आधार पर ही इंटरपोल आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए संबंधित देश की नामित सुरक्षा एजेंसी के जरिये कार्रवाई करता है। बलूचिस्तान पुलिस ने पाकिस्तान के गृह मंत्रालय को कागजात दिए हैं, उनके अनुसार 33 वर्षीय बरहमदाग प्रतिबंधित बलूच रिपब्लिकन पार्टी के प्रमुख हैं। वह अपने नजदीकी लोगों के बीच साहिब कहकर पुकारे जाते हैं।

'बलूचिस्तान खाली करे पाक सेना वरना 1971 से भी खराब नतीजे भुगतने पड़ेंगे'

उनकी दो बीवियां- लैला बीबी और शूली बीबिम हैं। इन दोनों से ब्रह्मदाग के चार बच्चे हैं। वह रहेजा बुगती जनजाति से संबंधित हैं। पुलिस के अनुसार वह स्विट्जरलैंड से बलूच रिपब्लिकन आर्मी नाम का संगठन चलाते हैं। सन 2010 में बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना की कार्रवाई के दौरान वह भागकर अफगानिस्तान चले गए थे। वहां से वह 2011 में स्विट्जरलैंड पहुंच गए। उनके राजनीतिक शरण के लंबित आवेदन को स्विस सरकार ने जनवरी 2016 में तब अस्वीकार किया, जब पाकिस्तान ने उन्हें आतंकी घोषित किया।

मोदी की तारीफ करने वाले ब्रहमदाग बुगती होंगे गिरफ्तार! पाक ने तेज की कार्रवाई

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस