मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया ने भारत, चीन और पाकिस्तान जैसे उच्च जोखिम वाले देशों के छात्रों के लिए वीजा नियमों को आसान बना दिया है।

कथित रूप से उच्च जोखिम वाले देशों के छात्रों का आकलन अब स्तर चार और पांच जैसे कठिन मापदंडों के आधार पर नहीं किया जाएगा। उनके लिए इस प्रावधान को समाप्त कर दिया गया है। यह परिवर्तन 22 मार्च से प्रभावी होगा। मेलबर्न के शिक्षा एवं आव्रजन संबंधी कंसल्टेंट जैग खैरा ने कहा, 'यह भारतीय छात्रों के लिए अच्छी खबर है। उनका ऑस्ट्रेलिया में अच्छी शिक्षा प्राप्त करने का सपना अब साकार हो सकेगा। भारत, नेपाल, बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों के लिए आकलन के स्तर में परिवर्तन से इन देशों से ऑस्ट्रेलिया आने वाले छात्रों की संख्या में वृद्धि होगी।' इस परिवर्तन का प्रत्यक्ष प्रभाव यह होगा कि ऑस्ट्रेलिया आने वाले इन छात्रों को वीजा के लिए कम राशि दिखानी होगी। इन छात्रों को अब 18 महीने के बजाय 12 महीने की राशि का प्रमाण देना होगा।

पढ़े: अमेरिका में भारतीयों को वीजा प्राप्त करने में कठिनाई

वीजा नियमों का उल्लंघन कर पढ़ा रहे कई शिक्षक

वीजा घोटाला: स्टिंग में फंसे 'आप' के दो सदस्य

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस