लाहौर। पाकिस्तान की एक अदालत ने राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी, गृह मंत्री रहमान मलिक, तहरीक-ए-इंसाफ के मुखिया इमरान खान और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ समेत विदेश में रहने वाले कई राजनेताओं को भेजे ताजा नोटिस में अपनी संपत्ति की घोषणा करने को कहा है।

लाहौर हाई कोर्ट ने यह नोटिस मंगलवार को वकील जावेद इकबाल जाफरी की याचिका पर सुनवाई करने के बाद जारी किया। याचिका में जाफरी ने अदालत से जरदारी, शरीफ, खान के अलावा पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ, पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ, पीएमएल-क्यू प्रमुख चौधरी शुजात हुसैन, उपप्रधानमंत्री चौधरी परवेज इलाही, पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी को अपनी संपत्ति की घोषणा करने के लिए निर्देश देने का आग्रह किया था। साथ ही इन सभी से विदेश में जमा अपनी संपत्ति को स्वदेश लाकर उन्हें पाकिस्तान के हित में खर्च करने का निर्देश देने का आग्रह किया था। न्यायाधीश खालिद मुहम्मद खान ने इन सभी राजनेताओं को नोटिस जारी करते हुए नौ अप्रैल तक जवाब देने को कहा है।

जाफरी ने आरोप लगाया है कि पीएमएल-एन प्रमुख नवाज शरीफ ने अपनी तीन अरब डॉलर संपत्ति ब्रिटेन में अपने दो बेटों को स्थानांतरित की है। उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्व प्रधानमंत्री गिलानी ने मुलतान और लाहौर में अपना घर बनाने के लिए 50 करोड़ डॉलर सरकारी खजाने से खर्च किए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार और नेताओं के कदाचार के चलते पाकिस्तान विफल राष्ट्र बना है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप