संवाद सहयोगी, जालंधर : गोल्डन एवेन्यू में खुले शराब के ठेके के खिलाफ एक सप्ताह से चल रहे विरोध ने वीरवार को प्रदर्शन का रूप ले लिया। महिलाओं के बाजार के दुकानदारों को अपने समर्थन में लिया और ठेके के विरोध में बाजार बंद करवा दिया। इससे पहले महिलाओं ने ठेके के बाहर विरोध जताया। नारे लगाए और ठेके के बाहर ही वे बैठ गई। महिलाओं ने वीरवार को ठेका खुलने नहीं दिया।

महिलाएं गोल्डन एवेन्यू के बाहर स्थित बाजार में दुकानदारों के पास गईं और सभी से ठेके के विरोध में दुकानें बंद करने के लिए कहा। महिलाओं ने सारा बाजार शराब ठेके की खिलाफत में बंद करवा दिया। महिलाओं ने चेतावनी दी है कि यदि एक्साइज विभाग ने शराब के ठेके को बंद नहीं करवाया तो वह अगला धरना सड़क पर लगाएंगी। इस अवसर पर सौदागर सिंह औजला, राकेश शर्मा, यश दुआ, किरपाल पाली, राजेश बिल्ली, अमरजीत गोल्डी, राजेश बिट्टू, हरप्रीत चौहान, जसप्रीत कौर, परमिदर बैंस औजला, ममता, डोली साहणे, ममता भोला, लक्की शर्मा, मोहिदर कौर औजला, आरती, राजवंत कौर, सुखबीर सिंह, रविदर सिंह, पीएल शर्मा, राजेश भारद्वाज, मंजीत सिंह आदि उपस्थित थे। सात घंटे धरना, कोई प्रशासनिक अधिकारी नहीं आया

सुबह 7 बजे से 2 बजे तक धरना जारी रहा लेकिन प्रशासन की तरफ से कोई नहीं आया। महिलाओं ेने कहा कि यह रिहायशी इलाका है। महिलाएं-बेटियां रोज जिस रास्ते से आती जाती हैं, उस रास्ते पर ठेका खोलना उचित नहीं है। महिलाओं का समर्थन करने के लिए जिला भाजपा देहाती प्रधान अमरजीत अमरी भी पहुंचे। कहा कि महिलाओं की मांग जायज है और सरकार को इस तरफ ध्यान देना चाहिए। ठेकेदार ने कहा-जल्द शिफ्ट कर लूंगा

महिलाओं के धरने के बाद ठेकेदार मौके पर आया और उसने आश्वासन दिया कि ठेका जल्द यहां से शिफ्ट कर दिया जाएगा।

Edited By: Jagran