मुंबई, मिड डे। महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में ठाणे जिले (Thane) के कलवा (Kalwa) में एक 23 साल की महिला ने कहासुनी के चलते अपने देवर की हत्‍या कर दी। पुलिस ने शुक्रवार को हुई इस घटना की जानकारी दी। यहां के मफतलाल झुग्‍गी में रहने वाली आरोपी महिला की पहचान प्रियंका सुरवाड़े (Priyanka Survade) के रूप में हुई है। कलवा पुलिस स्‍टेशन के वरिष्‍ठ पुलिस निरीक्षक मनोहर अवहद (Manohar Awhad) ने कहा कि मृत सागर सुरवाडे आदतन शराबी था।

Maharashtra News: एप के जरिए ऋण देकर वसूलते थे मोटा ब्याज, 18 गिरफ्तार

घर आकर पत्‍नी संग लड़ता-झगड़ता था देवर

उन्‍होंने आगे बताया, 'वह रोज रात को शराब पी घर आकर अपनी पत्‍नी के साथ लड़ता-झगड़ता था। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात प्रियंका ने सागर को चाकू मार दी। इनके परिवार में प्रियंका और उसका पति, सागर और उसकी पत्‍नी व दोनों पति-पत्‍नी के बच्‍चे सभी साथ में रहते थे।'

अपराध की एक और घटना ने उड़ाई सबकी नींद

महाराष्‍ट्र के ठाणे जिले से एक और ऐसी घटना सबके सामने आई, जिसके बारे में जान लोग हैरान हो गए। इसमें एक मां ने अपने सौतेले बेटे की बड़ी ही बेरहमी से हत्‍या की दी। डोम्बिवली (Dombivili) की इस घटना में मृत बच्‍चे की उम्र महज साढ़े तीन साल है।

उसे उसकी सौतेली मां ने लात-घूंसे के अलावा तार से भी खूब पीटा। बच्‍चे को इसमें इतनी चोट लगी कि वह बेसुध होकर गिर पड़ा। बाद में घर आने के बाद उसके पिता की नजर जब अपने बच्‍चे पर पड़ी, तो वह उसे आनन-फानन में अस्‍पताल ले गया।

मां ने बच्‍चे को सुलाई मौत की नींद

बच्‍चे की हालत इतनी गंभीर हो गई थी कि उसे कलवा स्थित सिविक अस्‍पताल में रेफर कर दिया गया। वहां के डाक्‍टरों ने बच्‍चे को मृत करार दिया। पुलिस को अभी तक यह नहीं पता चल पाया है कि मां ने बच्‍चे की हत्‍या किस मकसद से की है।

आरोपी महिला का नाम अमितादेवी जायसवाल (28) है, जिसके खिलाफ तिलक नगर पुलिस स्‍टेशन ने भारतीय दंड संहिता (Indian Penal Code) की धारा 302 (हत्‍या) के तहत मामला दर्ज किया है। आगे की जांच जारी है। 

ठाणे में बच्‍चा चोरी के शक में भीड़ ने बेकसूर को लात-घूंसे से पीटा, पुलिस ने पहुंचकर बचाई जान

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट