जलस्तर घटने के साथ तीन स्थानों पर कटान तेज

जागरण संवाददाता, रौनापार (आजमगढ़): सगड़ी तहसील के उत्तरी छोर पर बहने वाली सरयू का पानी खतरा निशान से लगातार पीछे हट रहा है, लेकिन उसके बाद भी समस्या कम होने का नाम नहीं ले रही है। जलस्तर कम होने के साथ तीन स्थानों पर कटान तेज हो गई है। उर्दिहा गांव के शवदाह स्थल का छोटा प्रतीक्षालय भी नदी की धारा में विलीन हो गया। रास्तों व खेतों में अभी भी पानी लगा है। जिस रास्ते से पानी हटा है वहां कीचड़ के कारण आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

रिंग बांध के पश्चिम गांगेपुर परसिया, उर्दिहा व देवारा खास राजा के बगहवा पुरवा में कटान से कृषि योग्य भूमि नदी में समाहित होने लगी है। रिंग बांध के समीप कटान ने ग्रामीणों की चिंता को और बढ़ा दिया है। कारण कि रिंग बांध कटा तो कई गांव जलमग्न हो सकते हैं।

देवारा क्षेत्र स्थित सरयू की लहरें हर वर्ष तबाही मचाती हैं। पिछले वर्ष आई बाढ़ में जबरदस्त कटान हुई और सैकड़ों एकड़ जमीन कटकर नदी में बह गई। क्षेत्र के लोगों में बाढ़ की परेशानी 15 जून के बाद शुरू होती है, तो अक्टूबर मध्य तक बनी रहती है, क्योंकि इतने दिनों में जलस्तर में उतार-चढ़ाव बना रहता है। डिघिया नाला गेज पर शुक्रवार को 70.28 मीटर जलस्तर रिकार्ड किया गया था, जो शनिवार को 16 सेमी घटकर 70.12 मीटर पर आ गया। इसी तरह शुक्रवार को बदरहुआ नाले पर 70.90 से 16 सेमी घटकर जलस्तर 70.74 मीटर पर पहुंच गया।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट