कोलकाता, राज्य ब्यूरो। सीबीआइ द्वारा मवेशी तस्करी मामले में तृणमूल कांग्रेस के बाहुबली नेता अनुब्रत मंडल को गिरफ्तार किए जाने के बाद केंद्रीय एजेंसियों के कामकाज के तरीके और कथित तौर पर निष्पक्ष रूप से काम नहीं करने का आरोप लगाते हुए तृणमूल ने शनिवार को लगातार दूसरे दिन पूरे राज्यभर में विरोध प्रदर्शन किया। केंद्र सरकार पर एजेंसियों का उपयोग कर प्रतिशोध की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए तृणमूल के छात्र और युवा संगठन के कार्यकर्ताओं ने राजधानी कोलकाता समेत राज्य के विभिन्न जिलों में सड़कों पर उतर कर रैलियां निकाली और प्रदर्शन किया।

इसी क्रम में हावड़ा के टिकियापाड़ा में तृणमूल कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय गृह मंत्री का पुतला भी फूंका और जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शन के दौरान टीएमसी कार्यकर्ताओं ने विभिन्न हिस्सों में सड़क अवरोध भी किया और केंद्र सरकार, भाजपा, सीबीआइ व ईडी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। गौरतलब है कि अनुब्रत की गिरफ्तारी के बाद पार्टी ने गुरुवार को ही दो दिवसीय राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन का एलान किया था। तृणमूल का कहना है कि वह भ्रष्टाचार का समर्थन नहीं करती लेकिन जब भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की बात आती है तो केंद्रीय एजेंसियां चुप रहती हैं। इसी के खिलाफ उन्होंने विरोध जताया। अनुब्रत को गिरफ्तार किए जाने की पृष्ठभूमि में पार्टी ने केंद्रीय एजेंसियों की निष्पक्षता पर सवाल उठाया था। तृणमूल की वरिष्ठ नेता व राज्य सरकार में मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने भाजपा नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों में केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई धीमी होने के आरोपों का जिक्र करते हुए उनकी निष्पक्षता को लेकर गुरुवार को सवाल उठाया था। उन्होंने कहा कि हमें केंद्रीय एजेंसियों के कामकाज पर गंभीर संदेह है। हमने देखा है कि जब भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की बात आती है तो वे चुप रहती हैं।

Edited By: Sumita Jaiswal