ग्रामीण बोले-जब्त वाहन को छोड़ने में पुलिस कर रही अवैध वसूली

संवाद सहयोगी, सारठ (देवघऱ) :

सारठ थाना की कार्यसंस्कृति आमजन के लिए ठीक नहीं कहा जा सकता है। लोग परेशान हो रहे हैं। आए दिन हो हंगामा होता रहता है। गुरुवार को थाने में जब्त पिकअप वैन को छुड़ाने आए लोगों ने पुलिस पर अवैध वसूली का आरोप लगाया। एक काम के लिए बार बार थाना का चक्कर लगाने और जब्त वाहन का बैट्री गायब कर देने को लेकर हो हंगामा किया। दुनवाडीह गांव निवासी चक्रधर पंडित, कार्तिक पंडित, कामदेव पंडित ने बताया कि 11 माह पहले उनका गाड़ी बिजली का तार ले जाने के जुर्म में सारठ थाना पुलिस ने जब्त किया था। मामले में वे जेल भी गए। तीन दिन पहले न्यायालय से गाड़ी का रिलीज का पेपर लेकर थाना आए। मामले के आईओ एएसआई सुरेश रवानी ने गाड़ी छोड़ने के एवज में नजराना लिया। उसके बाद भी गाड़ी नहीं छोड़ा जा रहा है। पुलिस पदाधिकारी तरह-तरह का बहाना बनाकर तीन दिन से थाने का चक्कर लगवा रहे हैं। हंगामा कर रहे ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पिकअप वैन की बैट्री भी गायब है। मौके पर कहा कि थाने के बाहर चोरी होती है तो पुलिस चोर को गिरफ्तार कर जेल भेज देती है। अगर थाना के अंदर से चोरी होती है तो इसका जिम्मेवार कौन है। चक्रधर पंडित व उनके स्वजन इसकी शिकायत करने एसडीपीओ कार्यालय पहुंचे तथा लिखित शिकायत भी किया है।

व्यस्तता के चलते गाड़ी छोड़ने में देरी हुई। अवैध वसूली का आरोप निराधार है।

सुरेश रवानी, एएसआई सारठ

मामला संज्ञान में आया है। इसकी जांच कर समुचित कार्रवाई किया जाएगा।

धीरेन्द्र नारायण बंका, एसडीपीओ सारठ।

Edited By: Jagran