सरोवर को सहेजने के लिए अमृत वर्ष पर ध्वजारोहण

जागरण संवाददाता, देवघर: आजादी के अमृत महोत्सव पर जल संरक्षण को लेकर अमृत योजना के तहत 75 सरोवर बनाया जा रहा है। अगले स्वतंत्रता दिवस तक इसे पूरा करने का लक्ष्य है। सोमवार को 15 अगस्त के अवसर पर 31 अमृत सरोवर पर गांव के सम्मानित सदस्य, बुजुर्ग, स्वतंत्रता सेनानी के स्वजनों ने ध्वजारोहण किया। ऐसा पहली बार हुआ जब सरोवर के तट पर झंडे को सलामी दी गयी। देवघर में 31 में दो नए सरोवर पर कार्य चल रहा है। बाकि का जीर्णोद्धार हुआ है। सारठ के सबेजोर पंचायत में सबेजोर सरोवर पर सहजानंद सिंह ने ध्वजारोहण किया। मौके पर बीडीओ पल्लवी सिन्हा मुख्य रूप से थीं। सबने सरोवर के संरक्षण का संकल्प लिया। चांदडीह सरोवर, जनकपुर नवाडीह, खरहारा टाभाघाट, जीतजोरी सरोवर, गोसाई बांध सरोवर, बिरनिया रामूडीह सरोवर, डुमरिया सालतर सरोवर, जरीडीह धमनी सरोवर, बाघमारा सरोवर, छतरमा मारगोमुंडा सरोवर, गिरनजोरी सरोवार, चेतनारी सरोवर, चुल्हिया सरोवर, डुमरियागढ़ा सरोवर, पोस्तवारी मोहनपुर, ताराबाद मोहनपुर समेत सभी चयनित सरोवर पर ध्वजारोहण हुआ। मो. कमरूद्दीन अंसारी, राजकुमारी देव्या, जयप्रकाश राय, गोपाल पंडित, चूड़ानन पंडित, कपूर मरिक, कंगलू मरांडी, मलिक खान, जगदीश हांसदा, दिलचंद राय, श्रवण हेंब्रम] मो. फारूख अंसारी, नेवानी यादव, खीरो महतो, गोपाल रवानी, हर गोविंद यादव ने अपने अपने सरोवर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया।

Edited By: Jagran