मनाली, जागरण संवाददाता।

Two JE Stopped in Hanging Bridge, सोमवार को मनाली के सोलंग में ब्यास नदी पर बनाए अस्थायी पुल के ढह जाने से दो किशोर बह गए थे व उनकी मौत हो गई थी। इस पर मंगलवार को गुस्साए सोलंग के ग्रामीणों ने लोक निर्माण विभाग के दो जेई (कनिष्ठ अभियंता) नदी पर बने झूलापुल पर ही रोक दिए। इससे माहौल तनावपूर्ण हो गया।

मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासन के अधिकारी ग्रामीणों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन ग्रामीण अधिकारियों को सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं। सोलंग गांव के लिए ब्यास नदी में आठ साल से पुल न बनने के कारण व झूला पुल की हालत ठीक न होने के चलते ग्रामीण हंगामा कर रहे हैं। तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव की महिलाएं भी घटनास्थल पर पहुंच गई। इस दौरान कुछ लोगों ने अधिकारियों को जूतों की माला भी पहनाई।

यह भी पढ़ें : Video : मनाली के सोलंग में बाढ़ से पुल टूटा, ब्‍यास नदी में दो किशोर बहे

हालात बिगड़ते देख एसडीएम डा. सुरेंद्र ठाकुर और डीएसपी हेम राज वर्मा भी मौके पर पहुंच गए हैं। प्रशासन ग्रामीणों को मना रहा है, लेकिन ग्रामीण मानने को तैयार नहीं हैं। सोलंग के ग्रामीण गोकुल, रोशन और रूप चंद ने बताया कि आठ साल से सोलंग पुल न बनना सरकार की नाकामी है। पुल न बनने से ग्रामीण नदी में बह रहे हैं। एकमात्र झूलापुल भी काम नहीं कर रहा है। जिंदगी खतरे में पड़ी हुई है, लेकिन सरकार सोई है। एसडीएम मनाली डा. सुरेंद्र ठाकुर ने कहा कि लोगों को समझाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : पुल टूटने से ब्यास नदी में बहे दोनों किशोर के शव बरामद

Edited By: Virender Kumar