0 दो दिन से चल रहा था 4 लाख क्यूसिक पानी

झाँसी : मध्य प्रदेश में बारिश थमते ही बेतवा का वेग भी कम होने लगा है। दो दिन से 4 लाख क्यूसिक पानी नदी में बह रहा था, लेकिन आज दोपहर से पानी की मात्रा लगभग ढाई लाख क्यूसिक हो गई। इससे नदी किनारे के गाँवों पर मँडरा रहा खतरा फिलहाल टल गया है।

भोपाल (मध्य प्रदेश) से निकली बेतवा नदी बुन्देलखण्ड के लिए जीवनदायिनी है। इस नदी पर राजघाट, माताटीला, सुकुवाँ-ढुकुवाँ व पारीछा बाँध बने हैं, जिससे झाँसी व आसपास की सिंचाई व पेयजल की व्यवस्था होती है। इस बार जुलाई माह में बेतवा का वेग नहीं बढ़ा, जिससे सभी बाँध खाली पड़े थे, लेकिन पिछले दिनों से मध्य प्रदेश में होने वाली झमाझम बारिश से बेतवा में उफान आ गया। एक सप्ताह से बेतवा का वेग लगातार बढ़ रहा था। दो दिन से नदी में 4 लाख क्यूसिक पानी दौड़ रहा था, जिससे नदी किनारे के गाँवों में बाढ़ का खतरा मँडराने लगा था। बुधवार को बेतवा में पानी कम हो गया। दोपहर बाद इसमें ढाई लाख क्यूसिक पानी चल रहा था, जिसके अभी और कम होने की सम्भावना जताई जा रही है।

Edited By: Jagran