ताजिए दफनाने के रास्ते के विवाद में दो और बंदी

जागरण संवाददाता, बरसठी (जौनपुर): पुरेसवां गांव में रास्ते के विवाद को लेकर मुहर्रम पर देररात तक ताजिया सिपुर्द-ए-खाक न किए जाने के मामले में पुलिस ने शनिवार को दो और आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। दो आरोपितों को पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है। एक अन्य नामजद व दो-तीन अज्ञात की तलाश में जुटी है।

विवाद के चलते देररात तक ताजिया दफन नहीं हो सका था। एडीएम (वित्त व राजस्व) राम प्रकाश, एएसपी (ग्रामीण) शैलेंद्र सिंह, एसडीएम अर्चना ओझा व सीओ अशोक सिंह मय फोर्स डटे रहे। अधिकारियों की अपील के बाद भी ताजिए दफन नहीं किए गए थे। पुलिस कर्मियों के साथ कहासुनी व गाली-गलौच की गई थी। देर रात ताजिए से सेहरा कर्बला में दफनाए गए। एसआइ संजय यादव की तहरीर पर गांव के गुलाम मोहम्मद, पूर्व प्रधान अशोक शुक्ल, निजाम, फिरोज, खुर्शीद आलम व दो-तीन अज्ञात आरोपितों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। शनिवार को गुलाम मोहम्मद व खुर्शीद आलम को गिरफ्तार कर चालान कर दिया। फरार फिरोज की तलाश चल रही है। पूर्व प्रधान अशोक शुक्ल व निजाम को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

Edited By: Jagran