लखनऊ, जागरण संवाददाता। फ्लैट दिलाने के नाम पर ग्राहकों का करोड़ों रुपये हड़पने के आरोपित Tulsiani builder बिल्डर अनिल कुमार तुलस्यानी को विभूतिखंड पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित के खिलाफ कई लोगाें ने 10 करोड़ से ज्यादा की धोखाधड़ी की एफआइआर दर्ज कराई थी। पुलिस लंबे समय से अनिल की तलाश कर रही थी। अनिल के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी था और पुलिस ने कुर्की से पहले की नोटिस भी दी थी।

अनिल कुमार ने तुलस्यानी कंस्ट्रक्शन एंड डेवलपर्स लिमिटेड के नाम से कंपनी खोली थी। सैकड़ों लोगों को लुभावने स्कीम बताकर उनसे रुपये ले लिए थे, लेकिन उन्हें न तो रकम लौटाए न ही फ्लैट दिए। आरोपित ने अंसल और सुशांत गोल्फ सिटी में फ्लैट दिलाने का झांसा दिया था। इंस्पेक्टर विभूतिखंड डा. आशीष कुमार मिश्र ने बताया कि आरोपित यहां विज्ञानपुरी महानगर में शालीमार अपार्टमेंट में फ्लैट लेकर रह रहा था।

आरोपित के खिलाफ हजरतगंज काेतवाली में भी मुकदमे दर्ज हैं। आरोपित प्रयागराज का रहने वाला है और वहीं से उनसे ठगी का धंधा शुरू किया था। आरोपित के पास जमीन नहीं थी और वह लोगों को प्लाट व फ्लैट दिलाने का प्रलोभन देता था। झांसे में आकर लोग उसे एडवांस के तौर पर मोटी रकम दे देते थे। पुलिस यह पता लगा रही है कि बिल्डर के खिलाफ और किन थानों में एफआइआर दर्ज है।

राजधानी में जमीनों के नाम पर बिल्डरों ने लोगों की गाढ़ी कमाई हड़पी है। इससे पहले भी पुलिस ने कई कंपनियों के निदेशकों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। जमीनों के नाम पर हेरफेर का बड़ा गिरोह अभी भी सक्रिय है, जिनके खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं हो रही है। इससे लगातार लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं।

Edited By: Anurag Gupta