जागरण संवाददाता, शिमला : राजधानी शिमला सहित जिलाभर में स्वतंत्रता दिवस की इस बार अलग से तैयारी की जा रही है। इस बार आजादी के अमृत महोत्सव के तहत इस पर्व को हर घर में मनाया जा रहा है। इसके लिए शहर में तिरंगे लगातार लोग खरीद रहे हैं। मालरोड स्थित मुख्य डाकघर में ही 60 हजार से ज्यादा झंडे बिक चुके हैं। यहां से रोजाना दो से तीन हजार झंडों की बिक्री की जाती है। शहर से लेकर गांव तक लोगों की ओर से घरों में झंडे लगाए जा रहे हैं। तिरंगा यात्रा भी हर स्कूल से लेकर व्यापार मंडल निकाल रहे हैं। तिरंगा यात्रा में सभी का उत्साह काफी दिख रहा है।

शुक्रवार तक शिमला के डाकघर में तीन हजार झंडे बिके। शनिवार को मुख्य डाकघर में ये खत्म हो गए थे। वहीं जिला प्रशासन से लेकर अन्य स्थानों पर झंडे शनिवार को भी मिलते रहे। शहर के लोग पहले डाकघर पहुंच रहे थे, लेकिन उन्हें वहां पर झंडे न मिलने के कारण उपायुक्त कार्यालय जाना पड़ रहा था। शहर से लेकर उपनगरों में निजी व राजनीतिक दल भी लोगों के घरों में झंडे पहुंचाने का काम कर रहे हैं। चुनावी चाहवानों को मिला बेहतर मौका

शहर में नगर निगम के चुनाव प्रस्तावित हैं। हालांकि चुनाव की तिथि से लेकर अन्य शेड्यूल अभी तक फाइनल नहीं है। इसके बावजूद दोनों ही राजनीतिक दलों में टिकट हासिल करने के लिए नेताओं में जद्दोजहद चली है। तिरंगा घर तक पहुंचाने के बहाने राजनीतिक दलों के नेताओं व कार्यकताओं को एक बेहतर मौका मिल गया है।

Edited By: Jagran