जागरण संवाददाता, नैनीताल : नैनीताल से सटे मंगोली क्षेत्र में तीन युवक घर के बाहर सड़क पर खड़ा वाहन ले उड़े। वाहन स्वामी ने परिचितों को साथ लेकर चोरी किए गए वाहन का पीछा किया साथ ही 112 से पुलिस को भी सूचना दी। खैरना में पुलिस ने बैरिकेडिंग कर चोरी के वाहन के साथ तीन युवकों को दबोच लिया। जिनके विरूद्ध संगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

मंगोली निवासी दिनेश चंद्र ने मंगलवार शाम अपना टवेरा वाहन घर के समीप सड़क किनारे खड़ा किया था। रात करीब 2:30 बजे उन्हें सड़क से वाहन स्टार्ट होने की आवाज आई। उन्होंने सड़क पर देखा तो वाहन गायब था। जिसके बाद परिचितों को साथ लेकर अन्य वाहन से चोरी किए गए वाहन का पीछा करने लगे।

इस बीच लोगों ने 112 के माध्यम से पुलिस को भी चोरी की सूचना दे दी। वाहन स्वामी ने बताया कि पीछा करने पर बजून के पास उन्हें वाहन दिखाई दिया। मगर सूनसान क्षेत्र होने के कारण वह वाहन रोकने की हिम्मत नहीं कर सके। मगर उन्होंने वाहन का पीछा करना नहीं छोड़ा। चोर वाहन को रूसी बाईपास, ज्योलीकोट, गेठिया, भवाली होते हुए खैरना तक पहुंच गए।

इधर सूचना के बाद खैरना चौकी इंचार्ज दिलीप सिंह टीम के साथ खैरना चाैकी पर बैरिकेडिंग कर तैनात हो गए। पुलिस ने सुबह करीब 4:30 बजे वाहन को खैरना पर रोक लिया। साथ ही उसमें सवार तीनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया।

कोतवाल प्रीतम सिंह ने बताया कि चोरी के वाहन के साथ धोबीघाट निवासी अभिषेक, शेरवानी निवासी शुभम कुमार और तल्लीताल बूचड़खाना निवासी पवन आर्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिनके विरुद्ध आईपीसी की धारा 379, 411 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपितों को न्यायालय पेश कर जेल भेज दिया गया है।

नशे की लत के चलते चोरी को दिया अंजाम

चोरी को अंजाम देने वाले तीनों युवक 21 वर्ष से कम के है। मगर स्मैक की लत ने उन्हें चोर बना डाला। पूछताछ में उन्होंने बताया कि रात को वह कालाढूंगी मार्ग से नैनीताल पैदल आ रहे थे। मंगोली में उन्होंने चोरी को अंजाम दे डाला।

70 किमी भागे, मगर नहीं मिली पुलिस

वाहन चोरी होने के बाद वाहन स्वामी ने करीब तीन बजे 112 पर पुलिस को सूचना दी। चोर वाहन लेकर ज्योलीकोट भवाली होते हुए खैरना तक पहुंच गए। मगर रास्तें में उन्हें कोई रोकने वाला पुलिसकर्मी नहीं मिला। भवाली में चौराहा और कोतवाली होने के बावजूद चोर वाहन लेकर आगे निकल गए।

हालांकि खैरना पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए चोरों को खैरना में दबोच लिया। उधर बुधवार सुबह आरोपितों के पकड़ में आने की सूचना पर कोतवाली के बाहर टैक्सी चालकों का जमावड़ा लग गया और वह चोरों को उनके हवाले करने की मांग करने लगे। टैक्सी चालक आरोपितों को सबक सिखाने पर आमादा थे लेकिन पुलिस ने बेहद संयम से काम लेकर उन्हें बचा लिया।

Edited By: Skand Shukla