जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़ : मलेरना मार्ग को पिछले एक दशक से नहीं बनाया गया है। पांच वर्ष से जर्जर हालत में होने के कारण यहां से निकलने वाले रोजाना करीब 20 हजार लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई बार लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी सड़क एवं भवन) के अधिकारियों से शिकायत की है, लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है।

मलेरना मार्ग दो विभागों के बीच बंटा हुआ है। आदर्श नगर की सीमा तक नगर निगम का क्षेत्र है और उससे आगे पीडब्ल्यूडी है। नगर निगम ने अपने क्षेत्र में तो सड़क को सीमेंटेड बनाया हुआ है, जबकि पीडब्ल्यूडी का भाग ट्रांसपोर्ट नगर के क्षेत्र में से निकलता है। यहां पर भारी वाहन खड़े रहते हैं। सड़क से आदर्श नगर क्षेत्र में रहने वाले रोजाना करीब 20 हजार लोग दिल्ली-वडोदरा-मुंबई एक्सप्रेस-वे तथा बल्लभगढ़ बाजार के लिए आते-जाते हैं। इस मार्ग से आदर्श नगर क्षेत्र में चल रहे उद्योगों के भी भारी वाहन माल लेकर आते-जाते हैं। सड़क पर पैचवर्क हुए भी पांच वर्ष से ज्यादा का समय बीत चुका है। अब यहां पर गहरे-गहरे गड्ढे बने हुए हैं। हमनें सड़क में बने गहरे-गहरे गड्ढों के बारे में कई बार लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से शिकायत की है, लेकिन अभी तक अधिकारियों ने इन गड्ढों पर पैचवर्क करना भी उचित नहीं समझा है।

-हरीराम यादव वर्षा के बाद तो इन गड्ढों की गहराई और ज्यादा हो गई है। गड्ढों से निकलते समय दोपहिया वाहन चालक गिर कर चोटिल हो जाते हैं। रात के समय सड़क पर अंधेरा होने के कारण गड्ढे दिखाई नहीं देते।

-मनोज कुमार सड़क से सिर्फ आदर्श नगर की ही आबादी नहीं, बल्कि दर्जन भर गांव के ग्रामीणों का भी आवागमन होता है। ये सड़क सीधे बाईपास और बल्लभगढ़ से जुड़ी हुई है। सामान खरीदने शहर आने के लिए ग्रामीण इस सड़क को ही चुनते हैं।

-बाबूराम हमनें लोक निर्माण विभाग की किसी भी सड़क को बिना एस्टीमेट बनाए नहीं छोड़ा है। सभी सड़कों के एस्टीमेट बनाकर सरकार के पास भेजे हुए हैं। जब भी सरकार एस्टीमेट मंजूर करके भेज देगी, तुरंत सड़क पर काम शुरू कर दिया जाएगा।

-प्रदीप संधु, कार्यकारी अभियंता लोक निर्माण विभाग फरीदाबाद

Edited By: Jagran