बगहा। पिपरासी व मधुबनी अंचल कार्यालय में बीते कई वर्षों से राजस्व कर्मचारियों की संख्या में कमी है। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। इस कारण सही समय पर जमीन संबंधित कागजात अप-टू-डेट नहीं हो पाता और लोग हल्का कर्मचारी एवं अंचल कार्यालय का चक्कर लगाते रहते हैं।

पिपरासी और मधुबनी अंचल कार्यालय में एक राजस्व कर्मी के भरोसे 17 पंचायतों का विकास कार्य संचालित हो रहा है। राजस्व कर्मी को पंचायत के साथ साथ अंचल निरीक्षक का भी अतिरिक्त प्रभार सौंप कर कार्यों का निष्पादन किया जा रहा है। पिपरासी की सात पंचायतों की करीब 15 हजार आबादी के लिए एक राजस्व कर्मी की तैनाती हुई है। अंचल निरीक्षक का भी अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। मधुबनी अंचल की दस पंचायतों के लिए मात्र एक राजस्व कर्मी की तैनाती हुई है। साथ में अंचल निरीक्षक का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। राजस्व कर्मी अतिरिक्त प्रभार के बोझ तले दबे हुए हैं जिसके कारण कार्य प्रभावित हो रहा है। राजस्व कर्मी के जिम्मे आय, निवास, जाति, आवास प्रमाण पत्र, राजस्व वसूली, दाखिल खारिज, भूमि विवाद का निष्पादन, बाढ़ पीड़ितों के भूमि का चयन, आपदा विभाग से पीड़ित की रिपोर्ट, अग्नि पीड़ितों की रिपोर्ट, जनता दरबार से मिली जांच जैसे महत्वपूर्ण कार्य का निष्पादन की जवाबदेही है। कर्मियों के न रहने से सरकारी स्कूलों, सरकारी भूखंडों, दाखिल खारिज का निपटारा ससमय नहीं हो पा रहा है। कर्मियों की कमी से नहीं हो रही जांच

प्राथमिक विद्यालय भगौनापुर मधुबनी की भूमि पर अतिक्रमण कर लिया है। प्रधान शिक्षक मनोज कुमार ने पिछले वर्ष 30 नवंबर को सीओ व डीईओ बेतिया को आवेदन दिया है। मनियर बाबा बह्म स्थान पर आठ एकड़ भूमि में से सात एकड़ भूमि पर दबंग काबिज हैं। अतिक्रमण हटाने के लिए स्थानीय मुखिया राकेश चौधरी व अन्य ने सीओ को दो माह पूर्व आवेदन दिया है। बरवा छठ घाट के रास्ते का अतिक्रमण कर आवेदन दिया गया है। दाखिल खारिज के दर्जन भर मामले लंबित हैं लेकिन कोई कारगर कदम नहीं उठाया गया है। पिपरासी के चनकुहा भरपटिया स्कूल की भूमि का अतिक्रमण का आवेदन दो वर्ष से दिया गया है। यूपी के भूमाफिया मंझरिया में सरकारी भूखंड बेच रहे हैं। सभी कार्य प्रभावित हो रहे हैं। ग्रामीण कैलाश गुप्ता, प्रमोद दुबे, पिटू पांडेय, शमशाद अंसारी, सांसद प्रतिनिधि अमरुलाह अंसारी ने कहा कि सभी कार्य प्रभावित हो रहे हैं। एक कार्य के लिए लोग दस बार अंचल कार्यालय का चक्कर काटते हैं। राजस्व कर्मी के अवकाश में जाने के बाद कार्य ठप हो जाता है। कोई कर्मी न होने के कारण दूसरे को प्रभार भी नहीं दिया जा सकता।

मामले में पिपरासी सीओ ललित कुमार सिंह ने बताया कि कर्मियों को लेकर जिला को पत्राचार किया गया है। एक राजस्व कर्मी को अतिरिक्त प्रभार सौंप कर विभिन्न कार्यों का निष्पादन किया जा रहा है।

वहीं मधुबनी के सीओ गौरव प्रकाश ने एक राजस्व कर्मी को सीआई समेत दस पंचायतों का अतिरिक्त प्रभार सौंप कर कार्य का निष्पादन किया जा रहा है। कार्य ठप नहीं है। कार्य प्रभावित हो रहा है।

Edited By: Jagran