फोटो संख्या: 32

जागरण संवाददाता, रेवाड़ी:

अपनी कला और संस्कृति से जुड़कर ही उस देश और प्रदेश से सच्चा प्यार किया जा सकता है। जब हम अपनी संस्कृति से जुड़ेंगे तो भाईचारा को बढ़ावा मिलेगा। हाल ही में प्रदर्शित हुई फिल्म 'हरियाणा' में यही संदेश है। फिल्म के निदेशक संदीप बसवाना ने कहा कि हरियाणा फिल्म भाइयों के बीच परस्पर प्रेम की कहानी पर आधारित है। इस फिल्म को स्वजन, मित्रों और बच्चों के साथ देख सकते हैं। वे बृहस्पतिवार को शहर के बीएमजी माल में फिल्म के प्रमोशन के लिए रेवाड़ी पहुंचे थे। दैनिक जागरण से बातचीत करते हुए उन्होंने फिल्म से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। उनके साथ फिल्म के मुख्य कलाकार यश टोंक, आकर्षण सिंह और रोबिक आए हुए थे। उन्होंने बीएमजी माल स्थित थिएटर में इस फिल्म को देखने आए दर्शकों का अभिवादन किया। यह फिल्म पांच अगस्त को रिलीज हो चुकी है। बृहस्पतिवार को यहां प्रदर्शित की गई। फिल्म के मुख्य कलाकार यश टोंक इस फिल्म में बड़े भाई की भूमिका निभा रहे हैं। फिल्म की अधिकांश शूटिंग हरियाणा के विभिन्न जिलों में हुईं हैं। उन्होंने कहा कि छोटी फिल्मों में भी बड़ा संदेश छुपा होता है। इस फिल्म के माध्यम से हरियाणा के गांवों की जीवन शैली को देश और दुनिया में प्रचारित करने का प्रयास किया है। फिल्म और थिएटर ही समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में अहम भूमिका निभाते हैं। हरियाणा में भी फिल्म और थिएटर में करियर की अपार संभावनाएं हैं। सरकार भी इसे प्रोत्साहित कर रही है। जब हमारी संस्कृति, बोली और रहन सहन को प्रदर्शित कर बालीवुड की फिल्में हिट से सुपरहिट हो सकती हैं तो क्या हम यहां के कलाकारों को प्रोत्साहित नहीं कर सकते। बीएमजी ग्रुप के निदेशक रिपुदमन गुप्ता ने उनका स्वागत किया।

Edited By: Jagran