सहारनपुर, जेएनएन। Terrorist arrested in UP सहारनपुर के गंगोह थाना क्षेत्र के गांव कुंडा कला से एटीएस ने आतंकी नदीम और उसके भाई तैमूर को उठाया था। पूछताछ के बाद एटीएस ने आतंकी नदीम के भाई तैमूर को छोड़ दिया है। हालांकि तैमूर अभी तक अपने घर नहीं पहुंचा है। वह किसी रिश्तेदारी में रुका हुआ है। बता दें कि आतंकी नदीम को एटीएस की टीम ने गिरफ्तार किया था।

घर पर मीडिया का डेरा

परिवार वालों ने मीडिया से दूरी बनाई हुई है। जबकि दिल्ली तक की मीडिया ने कुंडा कला गांव में डेरा डाला हुआ है। नदीम के पिता और माता दोनों खुद को बीमार बताकर घर में लेटे हुए हैं। बता दें कि तीन दिन पहले आतंकवाद निरोधक दस्ते की टीम ने गांव कुंडा कला निवासी नदीम पुत्र नफीस को गिरफ्तार किया था। साथ ही उसके भाई तैमूर को भी हिरासत में लिया था।

आतंकी संगठन जैश के साथ जुड़ा

नदीम के मोबाइल चैट और अन्य जांच से राजफाश हुआ है कि नदीम जैश ए मोहम्मद नाम के आतंकी संगठन से जुड़ा हुआ था और वह फिदायीन हमला करने की फिराक में था। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि उसे यह हमला कहां करना था। अनुमान लगाया जा रहा है कि सहारनपुर में ही स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नदीम को हमला करना था।

यह बोले पिता

शनिवार को नदीम के घर पर मीडिया का जमावड़ा लग गया। नदीम के चार भाई और दो बहने अपने घर पर नहीं हैं। केवल माता-पिता घर पर हैं और घर का दरवाजा बंद है। हालांकि शुक्रवार को नदीम के पिता ने बताया था कि उसका बेटा देश गतिविधियों में शामिल है, यह उन्हें नहीं पता है। यदि पता होता तो वह नदीम को इस रास्ते पर कभी नहीं चलने देते।

कश्मीरी युवकों के संपर्क में आया

उन्होंने यह भी बताया था कि नदीम जब देहरादून में एक कंपनी में नौकरी करता था तो वहीं पर वह कश्मीरी युवकों के संपर्क में आया था और वहीं से उसका माइंड वास करके देश के खिलाफ किया गया है।

सहारनपुर में गहरी है जैश ए मोहम्मद की जड़ें

सहारनपुर से जैश ए मोहम्मद के आतंकी नदीम का पकड़ा जाना यह कोई पहला मौका नहीं है। यहां पर पहले भी जैश ए मोहम्मद के कई आतंकी पकड़े जा चुके हैं। देवबंद और गंगोही इन आतंकियों का सुरक्षित ठिकाना रहता है। अनुमान लगाया जा रहा है कि अभी और भी जैश ए मोहम्मद के आतंकी सहारनपुर में छिपे हो सकते हैं।

स्थानीय खुफिया एजेंसियो को एसएसपी ने किया अलर्ट

एसएसपी विपिन ताडा ने एलआईयू को पूरी तरह से अलर्ट कर दिया है। हालांकि एलआईयू को गोपनीय रूप से इस मामले में काम करने के लिए कहा गया है। एटीएस से मिले इनपुट के बाद अंदेशा है कि नदीम के संपर्क में आने वाले युवक अधिकतर सहारनपुर के ही रहने वाले हैं। इसलिए इन युवकों तक पहुंचने के लिए एलआईयू और स्थानीय पुलिस को गोपनीय रूप से लगाया गया है। 

यह भी पढ़ें : Saharanpur News: स्वतंत्रता दिवस पर बड़ी वारदात कर सकता था आतंकी नदीम, सरकारी भवन पर हमले का था इरादा

Edited By: Prem Dutt Bhatt