चाईबासा, जासं। चाईबासा शहर में पिछले चार दिन से जारी भालू का आतंक अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि शुक्रवार की सुबह घने जंगल में बसे हाटगम्हरिया प्रखंड के बलियाडीह थाना अंतर्गत बीचाबुरु गांव में एक किसान पर दो भालुओं ने हमला कर दिया। भालुओं के हमले में किसान राम चांपिया बुरी तरह घायल हो गया। भालुओं ने उसके सिर और चेहरे को बुरी तरह चीर-फाड़ डाला है। राम की चीख-पुकार सुनकर जब आसपास के लोग जुटे तब भालू उसे छोड़ कर भाग निकले। तब तक राम बेहोश हो चुका था। उसकी पत्नी पुरुगुल चांपिया उसे लेकर हाटगम्हरिया के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंची। प्राथमिक उपचार के बाद किसान की नाजुक हालत को देखते हुए उसे एमजीएम अस्पताल, जमशेदपुर रेफर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि राम चांपिया सुबह के सात बजे अपने खेत में काम कर रहा था। वह अपने घर से निकलने वाली नाली के पानी का रुख अपने खेत की ओर मोड़ रहा था। तभी अचानक दो लू वहां आ गये और राम चांपिया पर हमला कर दिया। राम को बुरी तरह नोचने-खसोटने के बाद भालुओं ने उसे मरा समझ कर छोड़ दिया। तब तक चीख-पुकार सुन आसपास के लोग भी पहुंच गये। भीड़ देख भालू भाग गये।

गुटुसाई में वनकर्मियों ने किया भालू का पीछा, चकमा देकर खेत में छिपा

तीन महिलाओं समेत चार लोगों को जख्मी कर चाईबासा में पिछले चार दिनों से भालू इधर-उधर भटक रहा है। वन विभाग की 40 सदस्यीय टीम भालू को पकड़ने के काम में जुटी है। गुरुवार की रात 12 बजे के बाद वन विभाग की टीम ने भालू को गुटूसाई क्षेत्र में भ्रमण करते देखा। टीम ने अपनी गाड़ी से भालू का पीछा भी किया। कुछ देर पीछा करने के बाद भालू खेतों में जाकर छिप गया। चाईबासा वन प्रमंडल के संलग्न पदाधिकारी अहमद बिलाल अनवर ने बताया कि हम लोगों को भालू की अंतिम मौजूदगी चाईबासा शहरी क्षेत्र से सटे गुटुसाई व लोहरा बस्ती के आसपास दिखी है। वनकर्मी दोनों जगहों पर तैनात कर दिये गये हैं। भालू को काबू में करने के प्रयास किये जा रहे हैं। हमारी कोशिश है कि भालू शहर से निकलकर जंगल की ओर अपने आप चला जाये।

छह सालों में भालू के हमले में तीन की मौत, 26 हुए जख्मी

चाईबासा वन प्रमंडल क्षेत्र में जंगली भालू के हमले में पिछले छह साल में तीन लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 26 लोग जख्मी हुए हैं। वन विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 2017-18 में जंगली भालू के हमले में एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी। तीन लोग जख्मी हुए। इसी तरह 2018-19 में भालू ने तीन लोगों को जख्मी किया था। 2019-20 में एक व्यक्ति की मौत जबकि 2 लोग जख्मी हुए थे। 2020-21 में भी भालू के हमले में एक् व्यक्ति की जान चली गयी थी जबकि 4 लोग जख्मी हुए थे। 2021-22 में भालू ने पांच लोगों को जख्मी किया था। 2022-23 में अभी तक भालू 7 लोगों पर हमला कर उन्हें जख्मी कर चुका है।

Edited By: Madhukar Kumar