संवाद सहयोगी, तोशाम : गांव पटौदी में कुछ पशुओं में लंपी स्किन डिजीज के लक्षण पाए गए हैं। ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें गांव में गाय के छोटी-छोटी फुंसी दिखाई दी थी जिसके बाद उन्होंने पशु विभाग के अधिकारियों को सूचित किया। इसके बाद अधिकारियों ने डाक्टर भेजकर गाय का ईलाज शुरू करवाया। ग्रामीणों ने बताया कि अभी तक लगभग आधा दर्जन गाय में लंपी वायरस के लक्षण दिखाई दिए हैं। इसके बाद ग्रामीणों ने पटौदी कला व खुर्द में मुनादी भी करवा दिए कि सभी पशुपालक अपने पशुओं को घरों में ही रखें पशुओं के बारे में साफ सफाई रखें। युवा टीम भी पशुपालकों को साफ सफाई व पशुओं की अच्छी तरह देख भाल के लिए प्रेरित कर रहीं है। एसडीओ डा. सुनील शर्मा ने बताया कि उन्हें दो-तीन गांव में कुछ पशुओं में लंपी वायरस के लक्षण होने की सूचना मिली थी जिसके बाद उन्होंने अपनी टीम को वहां पर संक्रमित पशुओं का इलाज करने के लिए भेज दिया है। उन्होंने बताया कि पशुपालक अपने पशुओं को घरों में ही रखें और अपने पशुओं को बाहर न निकलने दें। पशुओं को फिटकरी या लाल दवाई के पानी से नहलाएं। पशुओं के बाड़े में नीम की लकड़ियों का धुंआ करें व पशुओं के बाड़े में गंदगी ने फैलने दें।

Edited By: Jagran