चिलचिलाती धूप में छूटे पसीने, बिजली कटौती ने किया बेहाल

जागरण संवाददाता, चंदौली : जिले में शनिवार को चिलचिलाती धूप में जहां राहगीरों के पसीने छूट गए, वहीं उमस भरी गर्मी में घंटों बिजली कटौती ने उपभोक्ताओं को बेहाल कर दिया। पारा 35 डिग्री सेल्सियस के पार जाने से देर शाम तक लोग परेशान रहे। राज्य कृषि मौसम केंद्र के प्रभारी अतुल कुमार सिंह ने बताया कि आने वाले दिनों में बारिश की संभावना बनी हुई है।

पिछले एक पखवारे से कभी धूप तो कभी रिमझिम बारिश का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को रिमझिम बूंदों ने आमजन को गर्मी से राहत दिलाई, लेकिन शनिवार को एक बार फिर चिलचिलाती धूप ने लोगों को परेशान कर दिया। धूप ऐसी कि दोपहर में राह चलना दुश्वार हो गया। लोग छांव की तलाश करते नजर आए। ऊपर से जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण इलाकों में घंटों बिजली कटौती ने उपभोक्ताओं की मुश्किलों को बढ़ा दिया। उपभोक्ताओं का कहना रहा कि जब जिला मुख्यालय पर घंटों बिजली कटौती हो रही तो अन्य क्षेत्र का क्या हाल होगा। मजे कि बात अधिकारियों से जानकारी लेने पर उन्हें पता ही नहीं रहता कि बिजली कटौती क्यों की जा रही है। नगर हो या गांव विद्युत आपूर्ति का कोई रोस्टर ही निर्धारित नहीं किया गया है। पांच-पांच मिनट पर कट रही बिजली से उपभोक्ताओं में आक्रोश पनपता जा रहा है। उपभोक्ताओं का कहना है कि यही हाल रहा तो सड़क पर उतरने को बाध्य होंगे।

अगस्त में भी बारिश ने किया निराश

अगस्त का प्रथम पखवारा बीतने को है, लेकिन बारिश के नाम पर केवल रिमझिम फुहारें ही गिरी हैं। मानसून ऋतु के दौरान जिले में अब तक कुल 156.5 मिमी. बारिश हुई है, जो 391.2 मिमी. के दीर्घकालिक औसत के सापेक्ष 60 फीसदी कम है। बारिश नहीं होने के कारण धान की रोपाई भी प्रभावित हुई है। बहरहाल उड़ीसा तट पर बने कमदबाव क्षेत्र बना हुआ है। इससे आने वाले दिनों में बारिश की संभावना बनी हुई है।

Edited By: Jagran