जागरण संवाददाता, सुपौल। स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह सोमवार को गांधी मैदान में आयोजित हुआ। आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव पर हर घर तिरंगा के बीच गांधी मैदान में राष्ट्रीय ध्वज शान से लहराया। जिलाधिकारी कौशल कुमार ने सुबह नौ बजे यहां ध्वजारोहण किया और राष्ट्रध्वज को सलामी दी। इसके अलावा डीएम ने समाहरणालय, मेला समिति, आंबेडकर स्मारक, गांधी स्मारक और रेडक्रास सोसाइटी में भी ध्वजारोहण किया।

कोविड-19 के संक्रमण के मद्देनजर आमलोगों को समारोह में आमंत्रित नहीं किया गया। इसके अलावा स्वास्थ्य के ²ष्टिकोण से स्वतंत्रता सेनानी और वरिष्ठ नागरिकों को भी शामिल नहीं किया गया। शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए यहां कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। कोविड संक्रमण के कारण समारोह में झांकियों का भी प्रदर्शन नहीं हुआ और और ना ही बच्चों संबंधित स्काउट एवं एनसीसी का परेड हुआ। इन सबके बीच जिलाधिकारी ने समाधान नामक पुस्तक का विमोचन किया। इसके अलावा उन्होंने उत्कृष्ट कार्य करनेवाले जिले के 54 अधिकारी और कर्मियों को पुरस्कृत किया। उन्होंने अपने संबोधन में जिले की विकास यात्रा की चर्चा की और आगामी कार्ययोजना से भी समारोह को अवगत कराया। वहीं दूसरी ओर व्यवहार न्यायालय परिसर में जिला एवं सत्र न्यायाधीश शशिभूषण प्रसाद सिंह, पुलिस लाइन में पुलिस अधीक्षक डी.अमरकेश, अनुमंडल कार्यालय में एसडीओ मनीष कुमार, बीएसएस कालेज में प्राचार्य प्रो. डा. संजीव कुमार,एसएनएस महिला कालेज में प्राचार्य अवनींद्र कुमार सिंह, थाना में थानाध्यक्ष मनोज कुमार महतो ने ध्वजारोहण किया। इसके अलावा राजनीतिक दलों के कार्यालय में अध्यक्ष, विद्यालयों में प्रधानाध्यापक व पंचायतों में मुखिया ने ध्वजारोहण किया।

Edited By: Jagran