फोटो: 03

सैंपल फेल होने पर दोबारा बिहार से मंगवाई गई थी तीन किलो खेप, चार लोगों के भी उगले नाम

जागरण संवाददाता, अंबाला : शुक्रवार को तीन किलोग्राम अफीम सहित पकड़े गए तीनों आरोपितों के तार बिहार और पंजाब से जुड़े हैं। आरोपित बिहार से अफीम की तस्करी कर उसे पंजाब में सप्लाई करते थे। इसके बदले में प्रत्येक चक्कर के आरोपितों को 10 हजार रुपये मिलते थे। अब सीआइए-2 पंजाब में बैठे नशा खरीदारों पर शिकंजा कसेगी ताकि इस कारोबार से जुड़े बड़े मगरमच्छों तक पहुंचा जा सके। बता दें कि पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा ने नशा तस्करी को रोकने के लिए सीआइए-2 प्रभारी विरेंद्र वालिया के नेतृत्व में सुरक्षा एजेंट मोहित सहित टीम का गठन किया। इस पर कार्रवाई करते हुए टीम ने थाना पड़ाव क्षेत्र शास्त्री कट के पास से आरोपित सुबोध साहनी निवासी हरि नगर जिला सीतामढ़ी बिहार, दुर्योधन साहनी निवासी गांव हरि नगर मेहंदीवाला सीतामढ़ी बिहार व उसकी पत्नी नीलम को तीन किलोग्राम अफीम सहित धरदबोचा था। इसके बाद आरोपितों को रिमांड पर लिया गया। रिमांड के दौरान आरोपितों ने बताया कि वह अफीम को पंजाब में बिन्नी और शीशपाल महंत को बेचते थे। आरोपित नीलम ने बताया कि वह इससे पहले भी बिहार से ही करीब 5-6 दिन पहले एक किलो अफीम लेकर आई थी। इसके बाद उसने यह अफीम आरोपित सुबोध को दी थी और सुबोध ने आगे इसे पंजाब में किसी को 250 ग्राम सैंपल के तौर पर दी थी। लेकिन जब इन सैंपलों को आरोपितों ने चेक किया तो वह फेल हो गए थे। इसी कारण सुबोध ने नीलम और उसके पति को अच्छी क्वालिटी की अफीम लाने बिहार भेजा था। अब दोबारा नीलम और दुर्योधन वहां से नशा लेकर पहुंचे जहां उन्हें सीआइए-2 की टीम ने धरदबोचा।

----------------------------

30 हजार रुपये में महंत से ली थी सुबोध ने एक्टिवा

आरोपित सुबोध ने एक्टिवा पंजाब के शीशपाल महंत से 30 हजार रुपये में ली थी हालांकि अभी तक उसने इसे अपने नाम नहीं करवाया था। बिहार में आरोपित नितेश और चुन्नू से नशा लेकर आते थे। इतना ही नहीं सुबोध की पत्नी महिला को इस सामान की पैकिग कर उपलब्ध करवाती थी। बताया जा रहा है कि इसके बदले में कुछ दिन पहले ही आरोपित नितेश और चुन्नू के खाते में 50-50 हजार रुपये की ट्रांजेक्शन भी की गई थी।

---------------------

दंपती को मिलते थे 10 हजार रुपये

बिहार से नशा लाने की एवज में दुर्याेधन और उसकी पत्नी नीलम को 10 हजार मिलते थे। इसमें 4 हजार रुपये आने-जाने का किराया और 6 हजार रुपये इनाम के तौर पर होते थे। पुलिस पूछताछ में आरोपित सुबोध ने बताया कि तीन आरोपित शीशपाल महंत और बिन्नी छोटा कामी पंजाब के रहने वाले हैं।

Edited By: Jagran