चंडीगढ़, [इन्द्रप्रीत सिंह]। आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, कई कारोबारियों और एक्साइज विभाग के अपुसरों के आवास पर सीबीआइ की रेड के बाद पंजाब में भी खलबली मच गई है। पंजाब में भी हाल ही में दिल्ली के मॉडल पर ही आबकारी नीति अपनाई गई थी जिसकी खूब आलोचना हो रही है। यहां तक कि इस नीति को हाई कोर्ट में भी चुनौती दी गई है। दूसरी छापे की कार्रवाई को लेकर पंजाब के सीएम भगवंत मान और अन्‍य आप नेताओं ने मनीष सिसौदिया का समर्थन किया है।

भगवंत मान, राघव चड्ढा और हरपाल चीमा ने मनीष सिसौदिया का किया समर्थन

इस छापेमारी के चलते पंजाब के एक्साइज विभाग के अफसरों में भी खलबली मच गई है। दरअसल नई पॉलिसी में सरकार ने शराब के सर्किल को तीन करोड़ से बढ़ाकर 30 करोड़ कर दिया है। इससे छोटे कारोबारी इससे बाहर हो गए हैं और केवल बड़े कारोबारियों के पास ही ठेके चले गए हैं। ज्यादातर ठेकेदार वही हैं जो दिल्ली में शराब का कारोबार कर रहे हैं। विभागीय सूत्रों का कहना है कि इसलिए पंजाब एक्साइज और कारोबारी भी घबराए हुए हैं।

उधर, मनीष सिसाेदिया, एक्साइज विभाग के अफसरों और कारोबारियों के आवास पर सीबीआइ की रेड पर भारतीय जनता पार्टी के महासचिव डॉ सुभाष शर्मा ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्‍होंंने कहा  कि सिसोदिया और कई अन्य शराब कारोबारियों के खिलाफ सीबीआइ की रेड चल रही है। भाजपा पहले से ही यह कहती आ रही है कि दिल्ली सरकार की आबकारी पॉलिसी भ्रष्टाचार की पॉलिसी है।

उन्‍होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने भ्रष्टाचार को इंस्टीट्शूनलाइज कर दिया है। व्यापक करप्शन हुई है। वही फार्मूला पंजाब में भी लागू किया जा रहा है। आम आदमी पार्टी की सरकार किस तरह से भ्रष्टाचार में डूबी हुई है इसकी उदाहरण है कि उनके स्वास्थ्य मंत्री भ्रष्टाचार के केस में अंदर हैं। दिल्ली जल बोर्ड का मामला हो और अब मनीष सिसोदिया के घर रेड चल रही है।

डा. सुभाष शर्मा ने कहा कि पंजाब में अपने ही स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के मामले में हटाना पड़ा है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि अपने आप को कट्टर ईमानदार पार्टी कहने वाली आप भ्रष्टाचार में गले गले तक डूबी हुई है। उनके सारे काम जनता के सामने आ रहे हैं। जांच एजेंसियां काम कर रही हैं। जल्द ही इस पार्टी के सभी भ्रष्ट लोग जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

दूसरी ओर, सीबीआइ के इस छापे को लेकर पंजाब में आम आदमी पार्टी सरकार के मंत्री मनीष सिसोदिया के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे हैं। मुख्यमंत्री भगवंत मान से लेकर वित्तमंत्री व कर एवं आबकारी विभाग के मंत्री हरपाल सिंह चीमा, शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस, आदि ने उनके पक्ष में ट्वीट किए हैं। उन्होंने आज के ही दिन अमेरिका के अखबार में मनीष सिसोदिया की खबरों को भी टैग किया,  जिसमें बताया गया है कि उन्होंने किस तरह से दिल्ली में स्कूली क्षेत्र में बढ़िया काम किया है।

हरपाल चीमा ने कहा कि जिस दिन दिल्ली के न्यूयार्क टाइम्स में दिल्ली के शिक्षा मॉडल की खबर प्रकाशित हुई उसी दिन मनीष सिसोदिया के आवास पर सीबीआइ ने रेडकी है। मनीष पहले ऐसे शिक्षा मंत्री हैं जिन्होंने भारत को गौरवान्वित किया है। इससे भाजपा खफा है।

राज्य सभा सदस्य राघव चड्ढा ने ट्वीट किया कि केजरीवाल सरकार की शिक्षा क्रांति की खूब वाहवाही हुई है। उसी सुबह उस शिक्षा क्रांति के नायक मनीष सिसोदिया के घर भाजपा की सीबीआइ ने रेड कर दी। इन्होंने आठ साल में खूब रेड करवाई, लेकिन कुछ मिला नहीं। आगे भी करवाते रहिए- हम जांच में पूरा सहयोग करेंगे। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने ट्वीट किया कि मनीष सिसोदिया आज़ाद भारत के सबसे बेहतरीन शिक्षा मंत्री हैं। उनके आवास पर सीबीआइ की रेड, ऐसे भारत कैसे आगे बढ़ेगा?

Edited By: Sunil Kumar Jha