पटना। भाजपा सांसद व सिने अभिनेता सांसद शत्रुघ्न सिन्हा आजकल अपनी पार्टी से नाराज चल रहे हैं। हालांकि उन्होंने पुष्टि नहीं की है, लेकिन कहा जा रहा है कि उनकी पत्नी पूनम सिन्हा जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के टिकट पर बिहार विधानसभा चुनाव में उतर सकती हैं। सोशल मीडिया से लेकर सियासी गलियारे तक इसको लेकर अटकलें तेज हैं।

गत 25 जुलाई को मुजफ्फरपुर में नरेंद्र मोदी की महापरिवर्तन रैली के अगले दिन शत्रुघ्न सिन्हा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। इसके बाद उन्होंने नीतीश कुमार को 'विकास पुरुष' करार दिया था। शत्रुघ्न सिन्हा मुजफ्फरपुर में नरेंद्र मोदी की रैली में नहीं नजर आए थे। इसके अगले दिन वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने उनके घर पहुंचे थे।

इस मुलाकात को लेकर विवाद बढ़ा तो शत्रुघ्न सिन्हा इसे व्यक्तिगत मुलाकात कहकर कयासों पर विराम लगा दिया। कुछ दिनों बाद पटना एयरपोर्ट पर भी दोनों के बीच मुलाकात हुई थी। पहले दोनों ने एक-दूसरे का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। इसके बाद नीतीश कुमार ने खुद जाकर शत्रुघ्न सिन्हा से मुलाकात की थी।

दोनों के बीच लगातार बातों व मुलाकातों को लेकर चर्चाओं का माहौल गर्म है। कहा तो यह भी जा रहा है कि शत्रुघ्न सिन्हा भले ही भाजपा में रहें, उनकी पत्नी जदयू के टिकट सेे चुनाव लड़ सकती हैं।

जदयू के बिहार प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने यहां कहा कि अगर शत्रुघ्न सिन्हा जदयू में शामिल होंगे तो इससे पार्टी की ताकत बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि अगर शत्रुध्न सिन्हा की पत्नी को विधानसभा चुनाव का टिकट देने का फैसला पार्टी करती है, तो वे उसका स्वागत करेंगे।

जदयू के महासचिव केसी त्यागी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि राजनीति में किसी भी संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

Posted By: Amit Alok