भागलपुर। जिले की दो दर्जन पंचायतों के 75 वार्डो में हर घर नल का जल नहीं पहुंच पाया है। जिला प्रशासन के लाख प्रयास के बावजूद इन वार्डो में अभी तक कार्य भी शुरू नहीं हो पाया है। जिला प्रशासन ने ऐसे वार्डो में 28 फरवरी तक हर हाल में कार्य पूरा कराने का निर्देश दिया है, लेकिन जो स्थिति बन रही है, उससे नहीं लगता है कि छह दिनों में नल-जल का कार्य पूर्ण हो सकेगा। ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना की अनदेखी करने वाले दो दर्जन मुखिया को पंचायत चुनाव लड़ने से रोका जा सकता है। साथ ही कार्रवाई भी हो सकती है। वहीं, 75 वार्ड सदस्यों पर भी कार्रवाई की तलवार लटक रही है। इन्हें भी चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगाई जा सकती है।

...................

मुखिया व वार्ड पार्षदों की तैयार हो रही सूची

पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा के निर्देश पर हर घर नल का जल का कार्य पूरा नहीं होने वाली पंचायतों व वार्डो की सूची तैयार होने लगी है। उन्होंने जिला पंचायती राज पदाधिकारी से एक सप्ताह के अंदर पूरी रिपोर्ट मांगी है। योजना के पूरा नहीं होने पर नाराजगी भी जताई है। 28 फरवरी तक नल-जल का कार्य हर हाल में पूर्ण कराने का निर्देश है। 28 फरवरी तक अगर कार्य पूरा नहीं हुआ तो दो दर्जन मुखिया के चुनाव लड़ने पर संकट उत्पन्न हो जाएगा। अपर मुख्य सचिव के निर्देश पर पंचायत, मुखिया और वार्ड सदस्यों की सूची तैयार होने लगी है। काम पूरा नहीं होने के कारण का भी पता लगाया जा रहा है।

..................

1376 वार्डो में पंचायत को कराना था काम

जिले में 3120 वार्डो में से 1376 वार्डो में वार्ड क्रियान्वयन समिति के द्वारा हर घर नल का जल का कार्य कराना था। शेष वार्डो में पीएचईडी विभाग को काम कराना था। 2019 में तत्कालीन पंचायती राज पदाधिकारी राजेश कुमार के कार्यकाल में हर घर नल का कार्य शुरू हुआ। उनका जबरन यहां से ट्रांसफर होने के बाद डीआरडीए निदेशक प्रमोद कुमार पांडेय को प्रभार दिया गया। उनके कार्यकाल में विधानसभा चुनाव के पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नल-जल योजना का उद्घाटन किया। अब डिप्टी कलक्टर त्रिलोकी नाम सिंह को जिला पंचायती राज पदाधिकारी बनाया गया है। नल-जल का कार्य पूर्ण कराने के लिए कई बार बीडीओ को निर्देशित किया गया। कार्रवाई की धमकी दी गई, लेकिन स्थिति ढाक के तीन पात वाली है। पीएचईडी विभाग की भी स्थिति दो दिन में चले ढाई कोस वाली है, लेकिन विभाग शत प्रतिशत कार्य पूरा होने का दावा कर रहा है।

..................

काम की जिम्मेदारी तीन विभागों की

1376 वार्डो में पंचायती राज, 1744 वार्डो में पीएचइडी और नगर निगम, नगर परिषद व नगर पंचायत में नगर विकास विभाग को हर घर नल का जल योजना का काम कराना था। लेकिन कहलगांव के श्यामपुर, ओरियप, बिहपुर के बिहपुर दक्षिण, लत्तीपुर उत्तर, वभनगाम सहित सुल्तानगंज व कहलगांव के कई पंचायतों में नल-जल का कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है। इसे 2020 में ही पूर्ण हो जाना था। लेकिन अभी तक कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है। पीएचइडी मंत्री रामप्रीत पासवान ने कहा है कि अब नल-जल योजना के लिए समय नहीं दिया जाएगा। देरी के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई होगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप