लखनऊ, जेएनएन। वीआइपी कॉलोनी ला-प्लास में शुक्रवार देर रात शाहजहांपुर के सपा एमएलसी अमित यादव के फ्लैट में सतरिख निवासी राकेश की हत्या के मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किए चारों आरोपितों को जेल भेज दिया है। इंस्पेक्टर हजरतगंज अंजनी कुमार पांडेय के मुताबिक आरोपितों के पास से बरामद अवैध असलहे की फॉरेंसिक जांच कराई जा रही है। रिपोर्ट के आधार पर यह स्पष्ट हो जाएगा कि गोली किसने चलाई थी।

एमएलसी अमित यादव के फ्लैट में शुक्रवार रात मूलरूप से कैलिया, सेहरामऊ शाहजहांपुर निवासी पंकज, उसके दोस्त इस्माइलगंज निवासी विनय, कजियाना, सतरिख बाराबंकी निवासी राकेश, इंदिरानगर निवासी ज्ञानेंद्र, सर्वोदय नगर निवासी आफताब मौजूद थे। सभी विनय के जन्मदिन की पार्टी मनाने के लिए एकत्र हुए थे। आफताब बीयर लेकर आया और पांचों ने बीयर पी थी। देर रात पंकज नशे में धुत होकर अपने कमरे से अवैध असलहा लेकर लाया था। इस दौरान विनय और राकेश के बीच असलहे को लेकर कुछ कहासुनी हो गई थी और आरोपितों ने राकेश को गोली मार दी थी। बयान में अंतर से मामला उलझा विनय ने पुलिस को फोन कर बताया था कि राकेश रावत असलहा किसी और को दिखा रहे थे और गोली उंन्हीं पर चल गई। हादसे में वह घायल हो गए। दोबारा फोन कर हंसी मजाक के दौरान विनय के हाथ में मौजूद असलहे से गोली चलने की बात बताई गई थी। आरोपितों के शुरुआती बयानों में काफी मतभेद सामने आए हैं। इससे राज गहरा गया है। उधर पीड़ित परिवार ने भी साजिश के तहत हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। पुलिस का कहना है कि आरोपितों के खिलाफ हत्या की एफआइआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि राकेश को गोली किसने मारी थी और उस पर किन परिस्थितियों में हमला किया गया, इसके बारे में छानबीन की जा रही है। फॉरेंसिक रिपोर्ट से सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस