वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में मौसम का रुख अब बदलाव की ओर होने के साथ ही पारा भी तीस डिग्री को पार कर चुका है। जल्‍द ही न्‍यूनतम तापमान भी 15 डिग्री के पार आते ही सर्दियों का अहसास गुम होने लगेगा। इसी के साथ ही पूर्वांचल में ठंड की विदायी और गर्मियों की दस्‍तक का दौर शुरू हो जाएगा। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि मौसम का रुख सामान्‍य ही चल रहा है। हालांकि, पश्चिमी विक्षोभ का असर होने के बाद मौसम दोबारा बदल सकता है। जबकि पारे में लगातार हो रहा इजाफा भी मौसमी बदलाव का ही संकेत दे रहा है। जबकि इस पूरे सप्‍ताह मौसम के यही रुख के साथ बने रहने की उम्‍मीद अधिक है।  

बुधवार की सुबह आसमान साफ रहा और ठंडी हवाओं का जोर रहा, सात बजे के बाद धूप पर्याप्‍त रूप से खिलने के बाद ठंडी हवाओं की मानो विदायी हो गई। वातावरण में गुनगुना अहसास घुल गया और शुष्‍क हवाएं वातावरण में काबिज हो गईं। दिन चढ़ा तो शुष्‍क हवाओं की सक्रियता के बीच धूल भी हवाओं के साथ उड़ती रही और बसंत के साथ फगुआ बयार का भी लोगों ने बखूबी अहसास किया। सामान्‍य से अधिक चल रहे तापमान ने लोगों को राहत तो दे रखी है लेकिन मौसमी बीमारियों का भी यह दौर बवह बन रहा है। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री अधिक रहा, न्‍यूनतम तापमान 13.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री अधिक रहा। आर्द्रता इस दौरान अधिकतम 60 फीसद और न्‍यूनतम 46 फीसद दर्ज की गई। इस प्रकार लगभग दस दिनों से लगातार पारा सामान्‍य से एक से दो डिग्री अधिक ही दर्ज किया जा रहा है। ऐसे में गर्मी का अहसास भी अब दिन में धूप निकलने के बाद होने लगा है। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में बादलों की सक्रियता नहीं है। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप