पटना। खांजेकला थाना क्षेत्र से दो युवकों के अपहरण और उनकी हत्या कर बालू में शव छिपाने के मामले में गिरफ्तार तीनों आरोपित शुभम उर्फ वम्मा, परशुराम उर्फ पीयूष कुमार और कुंदन पंडित को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की। तीनों की निशानदेही पर पुलिस हत्या में इस्तेमाल लोहे की रॉड और मृतक का मोबाइल बरामद कर लिया है। पूछताछ में शुभम ने पुलिस को बताया कि विनय कुमार को लव नामक युवक ने दो बार में 35-35 हजार रुपये की शराब लाकर दी थी। लेकिन, उसके द्वारा रुपये नहीं दिए जा रहे थे। रुपये मांगने पर जान से मारने की धमकी दी जा रही थी। पूछताछ में दोनों अभियुक्तों ने बताया कि शुभम के साथ मिलकर पहले दोनों को शराब पिलाई गई, फिर हत्या कर शव बालू के नीचे दबा दिया गया था। छह सितंबर की शाम करीब छह बजे खाजेकला के लालाटोली निवासी विनय कुमार और वकील राय दवा लाने के लिए पड़ोसी की बाइक लेकर घर से निकले, लेकिन वापस नहीं लौटे। विनय की पत्नी ने खांजेकला थाने में अगले दिन केस दर्ज कराया। अनुसंधान के दौरान नौ सितंबर को विनय कुमार और वकील का शव मेहंदीगंज के पैजावा में चारदीवारी के अंदर बालू में मिला। जांच में पता चला कि दोनों की हत्या की गई है। पुलिस ने इस मामले में शुभम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। शुभम ने पुलिस को बताया था कि वारदात में कुंदन और परशुराम ने भी उसका साथ दिया। इसी बीच पीयूष और कुंदन ने 24 सितंबर को न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। पूछताछ में शुभम ने बताया कि छह सितंबर की शाम विनय और वकील के मोबाइल पर फोन कर बाईपास पर बुलाया गया, जहां वारदात को अंजाम दिया गया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस