प्रयागराज [धर्मेश अवस्थी]। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने दो माह के अंतराल पर प्रतियोगियों के चेहरे पर फिर मुस्कान बिखेर दी है। आयोग ने पीसीएस 2018 की सबसे बड़ी भर्ती कराने के बाद अब पीसीएस 2020 प्रारंभिक परीक्षा का सबसे जल्द रिजल्ट देने का कीर्तिमान बनाया है। परीक्षा के बाद महज 40 दिन में परिणाम घोषित हुआ। इतना ही नहीं आसन्न भर्ती में पदों की संख्या लगभग दोगुनी हो गई है। इस कदम से मुख्य परीक्षा के लिए सफल होने वाले मेधावियों की तादाद में बड़ा इजाफा हुआ है। 

यूपीपीएससी की पीसीएस प्री परीक्षा 11 अक्टूबर को कराई गई थी। इम्तिहान में शामिल होने वालों की संख्या भी तीन लाख से अधिक है और चयन पांच वर्गों में होना है, फिर भी आश्चर्यजनक तरीके से रिजल्ट 40 दिन में आया है। इसी बीच दशहरा व दीपावली आदि का अवकाश भी रहा। यह परिणाम इसलिए भी चकित करता है, क्योंकि इसी आयोग में 2016 व उसके पहले की परीक्षाएं इन दिनों कराई जा रही हैं। आयोग ने इसके पहले 11 सितंबर को ही पीसीएस 2018 परीक्षा का अंतिम परिणाम जारी किया था। यह इम्तिहान सबसे अधिक 988 पदों के लिए था।

235 पद परीक्षा होने के बाद बढ़े : यूपीपीएससी पीसीएस 2020 की भर्ती को लेकर शुरू से गंभीर रहा, करीब छह लाख प्रतियोगियों ने उस समय केवल 252 पदों लिए ही आवेदन किया था। आयोग अध्यक्ष डा. प्रभात कुमार भर्ती आयोगों की बैठक में मुख्यमंत्री से मुखातिब हुए और अनुरोध किया कि प्रदेश के सभी विभाग अधियाचन भेज दें। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त आदेश दिया कि पीसीएस स्तर के सभी पदों का अधियाचन भेजा जाए। उसका यह असर रहा कि प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम 487 पदों के सापेक्ष जारी हुआ है। यानी 235 पद परीक्षा होने के बाद बढ़े हैं।

अभ्यर्थियों का चयन भी बढ़ा : यूपीपीएससी में नियम है कि पीसीएस की प्रारंभिक परीक्षा परिणाम के पहले तक जिन विभागों से रिक्त पदों का अधियाचन मिल जाएगा, उन्हें भर्ती के कुल पदों में जोड़ दिया जाएगा। उन पदों के सापेक्ष 13 गुना अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा के लिए सफल घोषित किया जाएगा। सचिव जगदीश ने बताया कि 487 पदों के सापेक्ष 13 गुना अभ्यर्थी सफल किए गए हैं, उनकी संख्या कुल सफल अभ्यर्थियों के जोड़ में कुछ कम हो सकती है, क्योंकि कई अभ्यर्थी कामन हैं।

प्रारंभिक परीक्षा में 5393 अभ्यर्थी सफल : बता दें कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पीसीएस 2020 प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम शनिवार देर शाम जारी कर दिया है। इसमें 5393 अभ्यर्थी सफल हुए हैं, जो अब मुख्य परीक्षा में शामिल होंगे। पीसीएस के साथ ही वन विभाग की सहायक वन संरक्षक व क्षेत्रीय वन अधिकारी (एसीएफ-आरएफओ) प्रारंभिक परीक्षा में 180 अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए हैं। दोनों अहम भर्तियों की प्रारंभिक परीक्षा एक साथ हुई थी और मुख्य परीक्षा अलग-अलग होगी। अभ्यर्थी आयोग की वेबसाइट पर परिणाम देख सकते हैं।

एसीएफ-आरएफओ प्री परीक्षा के 180 अभ्यर्थी देंगे अब मुख्य परीक्षा : यूपीपीएससी ने सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा (सामान्य चयन) यानी पीसीएस 2020 की प्रारंभिक परीक्षा के लिए आनलाइन आवेदन लिए थे। प्रदेश भर से 5,95,696 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया, प्रारंभिक परीक्षा 11 अक्टूबर को 19 जिलों के 1282 केंद्रों पर कराई गई थी। इसमें 3,14,699 अभ्यर्थी शामिल हुए। सचिव जगदीश ने बताया कि परीक्षा सामान्य व विशिष्ट अर्हता के पदों को देखते हुए पांच अलग-अलग ग्रुपों में कराई गई थी। इसी के साथ एसीएफ-आरएफओ प्रारंभिक परीक्षा 2020 भी हुई थी। पीसीएस की मुख्य परीक्षा के लिए 5393 व एसीएफ-आरएफओ मेंस के लिए 180 अभ्यर्थियों को सशर्त सफल घोषित किया गया है। प्रारंभिक परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों से मेंस में शामिल होने के लिए अलग से विज्ञप्ति जारी की जाएगी। रिजल्ट आयोग की वेबसाइट व कार्यालय के सूचना पट पर चस्पा किया गया है।

मुख्य परीक्षा की करें तैयारी : सचिव की ओर से कहा गया है कि प्रारंभिक परीक्षा में सभी सफल अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा की विज्ञप्ति के अनुसार कार्यवाही करें अन्यथा उनका परिणाम व अभ्यर्थन निरस्त कर दिया जाएगा। आयोग जल्द ही मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन लेगा।

परिणाम हाईकोर्ट के फैसले के अधीन : पीसीएस का परिणाम हाईकोर्ट में उप्र राज्य सरकार की ओर से दाखिल विशेष अपील में आने वाले अंतिम निर्णय के अधीन रहेगा।

प्राप्तांक अंतिम परिणाम के बाद : परीक्षा से संबंधित अंतिम उत्तरकुंजी, प्राप्तांक व श्रेणीवार, पदवार कटआफ अंक अंतिम चयन परिणाम घोषित होने के बाद आयोग की वेबसाइट पर जारी किया जाएगा। इस संबंध में सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के तहत प्रार्थना पत्र स्वीकार नहीं होंगे। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस