बरेली, जेएनएन। Third Round Corona Vaccination News : कोविड की वैक्सीन की एक्सपायरी को लेकर देश भर में चर्चा चल रही है। बरेली में जो वैक्सीन का स्टॉक आया है, उसमें से अधिकांश जून महीने में एक्सपायर हो रहा है। हालांकि स्वास्थ्य महकमे ने इससे पहले ही तीसरे चरण का टीकाकरण कराने की तैयारी शुरू कर दी है।

जिले में आबादी के सापेक्ष औसतन पंद्रह फीसद लोगों को स्वास्थ्य विभाग बुजुर्ग मान रहा है। जिले में इस समय करीब 45 लाख की आबादी है। इस हिसाब से लगभग पौने सात लाख की आबादी बुजुर्ग की कैटेगरी में मानी जा रही है। इसके अलावा 50 साल से ऊपर के अन्य लोग और मरीज भी रहेंगे। जिले में एरिया के हिसाब से और ग्रामीण आंचल में ब्लॉकवार वैक्सीनेशन की योजना है।

करीब सात हजार फ्रंटलाइन वर्कर्स का वैक्सीनेशन बाकी

जिले में अभी पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मचारियों को वैक्सीन की दोनों डोज लगी हैं। वहीं फ्रंटलाइन वर्करों का पहली बार टीकाकरण हो चुका है। अभी वैक्सीन की दूसरी डोज लगाना बाकी है। इस हिसाब से करीब सात हजार वैक्सीन की डोज और लगनी हैं। इसके अलावा जिन्होंने पहले चरण में वैक्सीनेशन नहीं कराया, उन कर्मचारियों का भी टीकाकरण होना है।

फतेहगंज पश्चिमी टोल नाके पर बढ़ी कोरोना जांच 

फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा के पास मंगलवार से कोविड की जांच तेज हो गई है। मंगलवार को जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. रंजन गौतम ने वैक्सीनेशन का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र समेत देश में कई जगह कोरोना के केस दोबारा बढ़ने की वजह से जिले में एहतियात बढ़ाया गया है। पिछली बार की तरह इस बार भी सार्वजनिक व निजी वाहनों में आने वाले मुसाफिरों की कोविड जांच की जा रही। मंगलवार को कोई पॉजिटिव केस सामने नहीं आया है।

दिल्ली से आने वाले फल-सब्जी के ट्रकों पर खास नजर

फतेहगंज पश्चिमी टोल पर कैंप लगाकर दिल्ली की ओर से आने वाले लोगों का टेस्ट हो रहा है। इसमें सार्वजनिक और निजी वाहन चालक व सवारियों के अलावा फल और सब्जी के ट्रक रुकवाकर चालक-परिचालक की खासतौर पर जांच कराई जा रही।

115 जांच, एंटीजन में कोई पॉजिटिव नहीं

फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा पर मेडिकल मोबाइल यूनिट के जरिए दिल्ली की ओर से आने वाले लोगों की जांच की गई। करीब 115 सैंपल लिये गए। इसमें 101 एंटीजन टेस्ट और बाकी आरटी-पीसीआर सैंपल थे। सभी एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव निकली। वहीं, आरटी-पीसीआर सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए हैं।

वैक्सीन के लिए खुद करना होगा पंजीकरण

तीसरे चरण में वैक्सीनेशन के लिए खुद पंजीकरण कराना होगा। लोग कोविन एप के जरिए अपना आवेदन देंगे। स्वास्थ्य विभाग मेसेज के जरिए वैक्सीन के लिए तिथि, स्थान और समय बताएगा।

पहली बार 27 मार्च को मिला था पॉजिटिव

जिले में कोरोना संक्रमण का पहला पॉजिटिव केस 27 मार्च को मिला था। तब सुभाष नगर का एक युवक कोरोना संक्रमित निकला था। इसका सैंपल 25 मार्च को लिया गया था। इसके बाद परिवार के पांच और लोग कोरोना संक्रमित मिले थे। इसके बाद कोरोना संक्रमण के कुछ केस ही संक्रमित मिले। मई और जुलाई में एक बार फिर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ी। खासकर जुलाई महीने में 200-250 केस सामने आने लगे। जिले में कई क्लस्टर एरिया बन गए। नवंबर में महाराष्ट्र और दिल्ली से लौटने वाले आप्रवासी की वजह से एक बार फिर कोरोना संक्रमण जिले में बढ़ा। तब एक बार फिर 100 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिले।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप