समस्तीपुर। ग्रामीण इलाकों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं से लोग सहम गए हैं। पुलिस की सारी व्यवस्था इन शातिर के सामने बौनी साबित हो रही है। अपराधी इतने बेखौफ हैं कि इत्मीनान से घटना को अंजाम दे डालते हैं। जबतक पुलिस सक्रिय होती है। तबतक अपराधी भी नए अंदाज में पुलिस के लिए टास्क छोड़ जाते हैं। इसके बावजूद पुलिस अब भी अपने पुराने अंदाज पर कायम है। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के विशनपुर में अपराधियों ने 72 घंटे के बीच लूट व हत्या की दो बड़ी वारदात को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दे डाली है। 17 नवंबर को विशनपुर चौक स्थित ग्रामीण बैंक की शाखा से हुई 1 लाख 92 लूट की गुत्थी सुलझाने में पुलिस माथापच्ची कर ही रही थी कि शुक्रवार की देर रात विशनपुर हकीमाबाद निवासी रामपुकार महतो के पुत्र विकास कुमार उर्फ डुगडुगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। चौराहे के पास ही खून से लथपथ शव मिला। बाद में परिजनों को घटना की जानकारी मिली। हत्या व लूट की इस दो बड़ी घटनाओं के बाद पुलिस उधेड़बुन में है। अपराधी पुलिस की नजरों से फरार हैं। थानाध्यक्ष विक्रम आचार्य ने बताया कि दोनों ही घटनाओं में पुलिस लगातार काम कर रही है। पुलिस की तकनीकी सेल की भी मदद ली जा रही है। जल्द ही अपराधी पकड़े जाएंगे।

-------------------------------

विशनपुर हकीमाबाद के विकास कुमार उर्फ डुगडुगी की गोली मारकर हत्या मामले में 24 धंटे बाद भी घटना के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। दर्ज प्राथमिकी में गांव के पूर्व मुखिया मृत्युंजय ठाकुर समेत सात को नामजद किया है। बताया कि शुक्रवार की रात करीब 9 बजकर 30 मिनट की है। विकास अपने स्वजनों को पटाखा खरीदने की बात कहकर घर से निकला था। इस क्रम में विशनपुर चौराहे के निकट अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। इधर, चर्चा है कि घटनास्थल के पास छठ पर्व का घाट बनाया गया था। देर रात चहल पहल थी। इसके बावजूद स्थानीय लोगों ने फायरिग की आवाज भी नहीं सुनी। जबकि, युवक को नजदीक से करीब चार गोलियां लगी थी। इसमें दो गोली शरीर के आरपार हो गई। घटना स्थल से करीब एक दर्जन खोखा मिला। आशंका है कि अपराधियों ने अन्यत्र हत्या कर शव चौराहे पर रख दिया। सूत्रों की मानें तो करीब दो माह पूर्व हकीमाबाद में अपराधियों ने विकास के करीबी एक युवक की हत्या की थी। इसके बाद वह कई माह तक गायब था और पुलिस की नजरों से ओझल रहा। घटना में पुरानी रंजिश व आपसी वर्चस्व की बात भी कही जा रही है। हलांकि, घटना जांच में जुटी पुलिस अभी कुछ बताने से परहेज कर रही है। शनिवार को मृतक के पिता रामपुकार महतो ने फर्द बयान पर नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें गांव के ही पूर्व मुखिया समेत सात को नामजद किया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस