जम्मू, राज्य ब्यूरो: राजकीय मेडिकल कालेज जम्मू की प्रिंसिपल डा. शशि सूदन की अध्यक्षता में हुई बैठक में श्री महाराजा गुलाब सिंह अस्पताल और जच्चा-बच्चा अस्पताल गांधीनगर में चल रहे कायों की समीक्षा की गई। इसमें बताया गया कि एसएमजीएस अस्पताल के थैलीसीमिया वार्ड में एसी लगाने के लिए टेंडर प्रक्रिया जारी है।

मार्च महीने के दूसरे सप्ताह तक काम पूरा हो जाएगा। इस दौरान अस्पताल के सभागार की मरम्मत करने का भी फैसला हुआ। यह भी तय हुआ कि एक साल पहले आग लगने के कारण बंद हुई अस्पताल की माइक्रोबायालोजी विभाग की लैब में बिजली के उपकरण व अन्य सामान लगातार इसे जल्दी शुरू किया जाए। अस्पताल में पोषण पुनर्वास केंद्र खोलने के लिए भी जल्दी ही डीपीआर तैयार की जाए।

नियोनेटल केयर यूनिट में वेंटीलेटर को बैकअप देने का काम भी मार्च महीने के अंत तक पूरा कर दिया जाएगा। प्रिंसिपल ने अस्पताल के वार्ड नंबर 14 और 15 का जीर्णाेद्वार करने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि नवजात बच्चों की देखभाल के लिए सभी सुविधाओं को प्राथमिकता दी जाए।

बैठक में बताया कि वार्ड नंबर 9 और 11 मेंचले रहे काम पूरे हो गए हैं और वार्ड संबंधित विभागों के हवाले कर दिए गए हैं। बैठक में यह भी बताया गया कि लेबर रूम का दूसरा चरण का काम पूूरा हो गया है। प्रिंसिपल ने आक्सीजन जेनरेशन प्लांट को अपग्रेड करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि इस पर देरी नहीं हो सकती। मेडिकल सुपरिटेंडेंट डा. मनोज चलोत्रा ने कहा कि इस पर काम जारी है।

गांधीनगर स्थित जच्चा बच्चा अस्पताल अब मरीजों के लिए पूरी तरह से खोल दिया गया है। बाद में उन्होंने अस्पताल के वाडों का निरीक्षण भी किया। इस दौरान पेडियाट्रिक सर्जरी शुरू करने पर जोर दिया गया। बैठक में प्रशासनिक अधिकारी जीएमसी और सहायक अस्पताल नागेंद्र जम्वाल, डा. स्मृति गुलाटी, डा. घनश्याम सैनी, नरेंद्र सिंह, सोनिया वैद, डा. अरुण शर्मा, डा. राकेश कुमार शर्मा भी मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप