लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश एटीएस ने शुक्रवार को एक और बड़ा ऑपरेशन किया है। एटीएस की टीम ने हापुड़ में छापा मारकर पाकिस्तान के लिए जासूसी करने वाले भारतीय सेना के एक पूर्व सैनिक को दबोचा है। इसके पास से एटीएस को टेरर फंडिंग का भी सबूत मिला है।

उत्तर प्रदेश एटीएस के एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि भारतीय सेना में तैनात रहे जवान सौरभ शर्मा को हापुड़ से गिरफ्तार किया गया है। इसके खिलाफ लखनऊ में केस भी दर्ज किया गया है। सौरभ शर्मा 2013 में भारतीय सेना में भर्ती हुआ था। इसके बाद उसने मेडिकल कारणों से मई 2020 में सेना को छोड़ दिया था। इस दौरान उसके बैंक एकाउंट में विदेश के काफी रकम आई है। हापुड़ के साथ ही उत्तर प्रदेश एटीएस ने गुजरात में छापा मारकर टेरर फंडिग के मामले में एक को पकड़ा है। प्रशांत कुमार ने बताया कि अभी एटीएस की टीमें कई राज्यों में कार्रवाई कर रही हैं। हमारी हर संदिग्ध से पूछताछ के साथ ही हर जगह पर छापेमारी जारी रहेगी।

उत्तर प्रदेश एटीएस ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को सेना की गोपनीय सूचनाएं भेजने वाले सेना के पूर्व जवान सौरभ शर्मा को हापुड़ से और उसके सहयोगी अनस गितौली को गुजरात के गोधरा से गिरफ्तार किया है। सौरभ हापुड़ के बहादुर गढ़ थाना क्षेत्र के बिहुनी गांव का रहने वाला है। उसने पैसों के लिए सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारियां पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को भेजी थीं। लखनऊ के एटीएस थाने में सौरभ शर्मा तथा अनस गितौली के खिलाफ ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर इनको गिरफ्तार कर लिया गया है।

सौरभ शर्मा की पत्नी पूजा सिंह के एकाउंट में आईएसआई एजेंट ने रकम भेजी थी। एटीएस ने इस संबंध में तमाम साक्ष्य जुटाए हैं। एटीएस ने इससे पहले भी एक पूर्व फौजी को हिरासत में लिया था। उस समय पूछताछ के बाद छोड़ दिया था। सौरभ शर्मा से पूछताछ के बाद कुछ अहम सबूत हाथ लगे है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप