मुजफ्फरनगर, जेएनएन। साथ रहने की जिद पर अड़ी दो युवतियां पुलिस चौकी पहुंच गई और साथ रहने का हाईकोर्ट का आदेश भी पुलिस को दे दिया। दोनों के स्वजन ने उन्हें घंटों समझाने का प्रयास भी किया, लेकिन जब वह नहीं मानीं तो ङ्क्षहदू युवती के स्वजन दोनों को अपने साथ घर ले गए।

शहर कोतवाली क्षेत्र के दो अगल-अलग गांव की युवतियों में काफी समय से दोस्ती है। इनमें एक ङ्क्षहदू है तो दूसरी युवती मुस्लिम है। मंगलवार दोपहर बाद दोनों पुलिस चौकी रोहाना पहुंची। दोनों पुलिस के सामने साथ रहने की जिद पर अड़ गई। जानकारी मिलने पर दोनों के स्वजन भी पुलिस चौकी पहुंच गए। स्वजन ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन दोनों साथ रहने की जिद पर अड़ी रहीं। दोनों ने बालिग होने और रजामंदी से साथ रहने का हाईकोर्ट का आदेश भी पुलिस को दिखाया। ङ्क्षहदू युवती के स्वजन दोनों को अपने घर में रखने की लिखित सहमति देकर साथ ले गए।

इंटर कालेज में पढ़ाई के दौरान हुई दोस्ती

दोनों युवतियां एक इंटर कालेज में पढ़ी हैं। पढ़ाई के दौरान ही दोनों में दोस्ती हो गई थी। दो साल पूर्व इंटर पास करने के बाद दोनों घर पर ही रह रही थी। बावजूद इसके दोनों एक-दूसरे के संपर्क में थी। इसी बीच दोनों ने एक वकील के माध्यम से हाईकोर्ट का आदेश भी हासिल कर लिया। दोनों ने बताया कि वह पांच साल से दोस्त है।

हाईकोर्ट ने दिया साथ रहने का आदेश

पुलिस को दिए गए हाईकोर्ट के आदेश में लिखा है कि दोनों युवतियां बालिग है और दोनों को अपनी मर्जी से साथ रहने का अधिकार है। पुलिस ने भी दोनों को समझाने का प्रयास किया था।

इनका कहना है...

दोनों युवतियां बालिग है और साथ रहना चाहती है। दोनों हाईकोर्ट का आदेश लेकर पहुंची थी। ङ्क्षहदू युवती के स्वजन दोनों को अपने घर ले गए हैं। दोनों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

-योगेश शर्मा, शहर कोतवाल। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप