गोरखपुर, जेएनएन। स्वास्थ्य कर्मियों का कोरोना टीकाकरण प्रथम चरण में हुआ है। 28 व 29 जनवरी को जिन्हें टीका लगाया गया है। उन्हें 25 व 26 फरवरी को दूसरी डोज दी जाएगी। इसके अलावा फ्रंटलाइन वर्करों को भी दूसरी डोज व तीसरे चरण के टीकाकरण की तैयारी चल रही हैं।

फ्रंटलाइन वर्करों का भी टीकाकरण समाप्त हो चुका है। बचे हुए स्वास्थ्य कर्मियों व फ्रंटलाइन वर्करों को टीका लगाने के लिए हर सोमवार को मापअप राउंड आयोजित किया जाएगा। मार्च से तीसरे चरण की शुरुआत हो जाएगी। मापअप राउंड के अलावा दूसरी डोज के लिए भी टीकाकरण आयोजित किया जाएगा। तीसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर व इससे नीचे के बीमार लोगों को टीका लगाया जाएगा। इसकी तैयारी चल रही है। आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सूची बनाने के लिए लगाया गया है। स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि तीसरे चरण में लगभग आठ लाख लोग हो सकते हैं, जिन्हें 400 बूथों पर टीका लगाने की तैयारी चल रही है।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी बनाए जाएंगे बूथ

ग्रामीण क्षेत्रों में भी बड़ी संख्या में बूथ बनाए जाएंगे ताकि ग्रामीणों को शहर में टीका लगवाने के लिए न आना पड़ा। हालांकि प्रथम व दूसरे चरण में भी ग्रामीण इलाकों के स्वास्थ्य केंद्रों पर बूथ बनाए गए थे। लेकिन इस बार गांवों में भी बूथ बनाने की तैयारी चल रही है। इसके लिए स्कूल व अस्पताल चयनित किए जा रहे हैं।

दूसरी डोज की तारीख

25 फरवरी- जिन्हें 28 जनवरी को पहली डोज दी गई है।

26 फरवरी- 29 जनवरी को पहला टीका लगवाने वाले लोगों का।

04 मार्च- जिन्हें चार फरवरी को लगा है।

05 मार्च- जिन्हें पांच फरवरी को वैक्सीन की पहली डोज दी गई।

12 मार्च- जिन्हें 15 फरवरी को पहला टीका लगाया गया था।

16 मार्च- जिन्हें 11 फरवरी को पहली डोज दी गई थी।

तीसरे चरण की चल रही तैयारियां

सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय का कहना है कि दूसरी डोज के साथ ही बचे हुए कर्मियों के लिए मापअप राउंड व तीसरे चरण के लोगों के लिए टीकाकरण की तैयारियां चल रही हैं। तीसरे चरण में बूथों की संख्या लगभग चार सौ बनाने पर विचार किया जा रहा है। ताकि एक माह में ही आठ लाख लोगों को वैक्सीन लगा दी जाए।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप