जागरण संवाददाता, गया। भाजपा नेता व ठीकेदार को गोली मारने वाला सामू यादव ने खुद को रेल पुलिस के हवाले कर दिया। हालांकि, उसके आत्‍मसमर्पण का तरीका देखकर पुलिस दंग रह गई। वह एक बोतल शराब के साथ रेल पुलिस के पास आया और कहा- साहब दारू है। पुलिस ने उसे फौरन गिरफ्त में ले लिया। पूछने पर उसने अपना नाम श्‍याम सुंदर बताया। यह वाकया मंगलवार की देर शाम हुआ। जब इसकी जानकारी एसएसपी आदित्‍य कुमार को मिली तो उन्‍होंने पुष्टि की कि श्‍याम सुंदर ही सामू यादव है। इस  पर ही रामपुर थाना क्षेत्र की एपी कॉलोनी में ठीकेदार को गोली मारने का मामला दर्ज है।

रंगदारी नहीं देने पर मारी थी गोली

बताया जाता है कि सामू ने ठीकेदार से रंगदारी में मोटी रकम की मांग की थी। ठीकेदार ने पहले इसे फर्जीवाड़ा समझा और दूसरी बार रकम मांगने पर पुलिस से शिकायत करने की बात कही। इससे नाराज सामू ने दहशत फैलाने के लिए ठीकेदार को गोली मार दी थी। ठीकेदार के भाजपा से जुड़े होने के कारण घटना ने तूल पकड़ लिया। लगातार दबिश बढ़ाने पर भी जब सामू पकड़ में नहीं आया तो पुलिस ने उसके घर पर इश्‍तेहार चस्‍पा कर दिया। अब पुलिस उसकी संपत्ति कुर्क करने की फिराक में थी।

तुरंत हो जाए जमानत, इसलिए रचा स्‍वांग

शराब मामलों में गिरफ्तारी के साथ जमानत पाने वाले लोगों की संख्‍या में बढ़ी है। मामला गया जिला पुलिस से जुड़ा था, लेकिन जल्‍द जमानत पाने के चक्‍कर में सामू ने स्‍वांग रचा और खुद को एक बोतल शराब के साथ गिरफ्तार करवा दिया। ऐसे में पुलिस अगर उसे फरार बताकर संपत्ति को कुर्क करती तो वो कानूनी प्रक्रिया में फंस जाती। दूसरी तरफ शराब मामले में अधिकतम एक महीने में सामू जमानत पर बाहर आ जाता। मगर उसकी पोल खुल गई। उसे शेरघाटी अनुमंडल जेल भेजा गया है।

इस संबंध में एसएसपी आदित्य कुमार ने बताया कि सामू यादव ने चालाकी से एक शराब की बोतल के साथ खुद को गिरफ्तार करवा लिया और रेल पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। उन्होंने कहा कि सामू यादव रात शेरघाटी जेल पहुंच गया है। पुलिस द्वारा उसकी पहचान कर ली गई है। शीघ्र ही उसे रिमांड पर लेने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप