रायबरेली : कोरोना से सलोन निवासी वृद्धा की जान चली गई है। 17 नए केस मिले हैं। 27 होकर स्वस्थ होने पर घर भेजे गए हैं। इस महामारी से मौतों का आंकड़ा 100 पहुंच चुका है। कोरोना की दूसरी लहर की आशंका है, इसलिए सुरक्षा नियमों का पालन बेहद जरूरी है। स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डीएस अस्थाना ने बताया कि 75 वर्षीय वृद्धा की 14 नवंबर को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई थी। वह अस्थमा की मरीज थी, सीने में दर्द होने पर इलाज के लिए उन्हें अपोलो अस्पताल लखनऊ ले जाया गया। वहां ट्रू नॉट जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई, जिसके बाद उनको एल-3 फैसिलिटी सेंटर एरा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। वहीं इलाज के दौरान 21 नवंबर को उनकी मौत हो गई। जिला कारागार, अधीक्षक ऑफिस, चक शाबुद्दीनपुर मटिया, मेवई, अंदरून किला, सेनपुर महराजगंज, लोधवामऊ, अकबरपुर परसी, दाऊदपुर गडई, संदी नागिन, दुधवन, एनटीपीसी, छजलापुर, दीनशाह गौरा, बनियन टोला सब्जी मंडी, कजियाना ऊंचाहार, विशायकपुर लालगंज, केवलपुर माफी सलोन में भी संक्रमित मिले हैं, जिनमें से अधिकांश को होम आइसोलेट किया गया है। लक्षण वाले मरीजों को एल-2 फैसिलिटी सेंटर लाया गया है।

बढ़ी ठंड, नगर में बने दो रैन बसेरा

रायबरेली : सर्दी बढ़ने के साथ ही राहगीरों की सुविधा के लिए नगर पंचायत ने कमर कस ली है। ठंड में लोगों को ठहरने के लिए बस स्टाप और कोतवाली के पास रैन बसेरा बना दिया गया है। इसकी देखरेख के लिए कर्मी भी तैनात कर दिए हैं।

नगर पंचायत अध्यक्ष शाहीन सुल्तान ने बताया कि तेज हवाओं के चलते रात में ठंड काफी बढ़ गई है। सड़क किनारे खुले आसमान के नीचे रात गुजारने वाले लोगों और राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में लोगों की सुविधा के लिए बस स्टेशन, प्राथमिक विद्यालय मुस्तफाबाद में पांच-पांच बेड के अस्थाई रैन बसेरे बनाए गए हैं। अधिशासी अधिकारी निखिलेश कुमार मिश्रा ने बताया कि अस्थाई रैन बसेरे में चारपाई, गद्दा, रजाई, चाय व भोजन की व्यवस्था की गई है। देखरेख तथा साफ-सफाई के लिए नगर पंचायत के कर्मचारी भी तैनात किए गए हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस