रांची, राज्य ब्यूरो। Priyanka Gandhi, Rahul Gandhi, Congress Party News प्रदेश कांग्रेस में अनुशासनहीनता के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और केंद्रीय नेतृत्व के संज्ञान में भी ये तमाम मुद्दे पहुंच चुके हैं। इसके बावजूद पार्टी स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। अनुशासन का डंडा सिर्फ डराने के काम ही आ रहा है। सोमवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में हंगामे को भी पूर्व में हुई अनुशासनहीनता की घटनाओं से जोड़कर देखा जा रहा है।

ऐसे मामलों में कार्रवाई नहीं होने से प्रदेश नेतृत्व पर भी सवाल उठने लगे हैं। खासकर, कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में भी जांच तो करानी ही चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका है। पार्टी के सीनियर नेताओं की मानें तो कांग्रेस जनों काे लड़ने के लिए छोड़ देने पर पार्टी की छवि खराब बनने का खतरा बना रहेगा। प्रदेश मुख्यालय में कांग्रेस नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप और हंगामे की घटना से पहले भी इस तरह के तीन चार मामलों में पार्टी की चुप्पी अब भारी पड़ रही है।

अनुशासनिक कार्रवाई तो दूर कर बात पार्टी ने यह पता लगाने की जहमत तक नहीं उठाई कि आखिर दोषी कौन है और किसके कारण पार्टी की छवि पर गलत असर पड़ा है। गिरिडीह में कांग्रेस नेताओं ने एक-दूसरे पर कुर्सियां भी उठा लीं तो हजारीबाग में सभा के दौरान मंच पर ही हंगामा हुआ। इससे अलग, सरायकेला में कांग्रेस के मंच से ठुमके लगाती नृत्यांगनों के मामले से पूरे देश में पार्टी की छवि पर असर पड़ा लेकिन औपचारिक जांच तक नहीं कराई गई। पार्टी के वरिष्ठ नेता मानते हैं कि ऐसी घटनाओं को नजरअंदाज करने से ही अनुशासनहीनता के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप