एटा, जागरण संवाददाता: कोतवाली नगर क्षेत्र में फाइनेंस कंपनी से चोरी किए चेक से 9 लाख रुपये निकाल लिए गए। आरोप है कि 6 लाख रुपये वापस कर दिए, लेकिन 3 लाख रुपये नहीं दिए। पीड़िता ने मामले की रिपोर्ट एसएसपी के आदेश पर दर्ज कराई है।

जिला पंचायत स्थित आवासीय कालोनी निवासी सुषमा देवी ने एसएसपी को दिए प्रार्थनापत्र में कहा कि नीलम मार्केट में उसके पुत्र रविकांत की फाइनेंस कंपनी है। गाड़ी खरीदने के लिए उसके नाम का 9 लाख रुपये का चेक फाइनेंस कंपनी की अलमारी में रखा हुआ था। आरोप है कि अलमारी से मेहता पार्क के समीप के निवासी कर्मचारी शिवम द्वारा चेक चोरी कर बैंक से 9 लाख रुपये निकाल लिए गए। जानकारी होने पर एक माह बाद 6 लाख रुपये तो आरोपित ने वापस कर दिए, लेकिन 3 लाख रुपये अभी तक नहीं दिए गए हैं। एसएसपी सुनील कुमार सिंह ने पीड़िता के प्रार्थनापत्र पर कोतवाली नगर पुलिस को मामले की रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए। कोतवाली नगर के इंस्पेक्टर एके सिंह ने बताया कि मामले की रिपोर्ट शिवम के खिलाफ दर्ज कर ली गई है। फिलहाल मामले की विवेचना की जा रही है।

दो पक्षों में चले लाठी डंडे : बागवाला क्षेत्र में दो पक्षों में चले लाठी-डंडों से पिता-पुत्र समेत तीन घायल हो गए।

शनिवार शाम ग्राम दुनइया निवासी कुमारी विरसना ने पुलिस को जानकारी दी कि पशु द्वारा झोंपड़ी तोड़ने को लेकर 19 नवंबर को जिलेदार ने तीन अन्य स्वजन की मदद से लाठी-डंडों से हमला कर उसके पिता राजेंद्र सिंह व भाई गुड्डू को घायल कर दिया। पुलिस ने बताया कि दो पक्षों में चले लाठी-डंडों से दूसरे पक्ष का जिलेदार भी घायल हुआ है। घायल राजेंद्र सिंह की बेटी की तहरीर पर मामले की रिपोर्ट जिलेदार समेत चार के खिलाफ दर्ज कर ली गई है। दूसरे पक्ष से अभी कोई तहरीर नहीं मिली है।

दूसरी ओर जसरथपुर क्षेत्र के ग्राम अहरई विचनपुर निवासी रामबहादुर ने गांव के ही रामेश्वर सिंह समेत चार लोगों पर उसे और भाभी गुड्डी देवी को घायल करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं जलेसर क्षेत्र के ग्राम भ्याऊ में हुई मारपीट में राजवीर सिंह समेत दो घायल हो गए। मामले की रिपोर्ट घायल राजवीर सिंह ने हाथरस जिले के सहपऊ क्षेत्र के ग्राम बागबधिक निवासी बलवीर सिंह समेत चार लोगों के खिलाफ दर्ज कराई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस