नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में न्यूनतम और अधिकतम तापमान में लगातार इजाफे से गर्मी के तेवर तल्ख होने लगे हैं। आलम यह है इस वर्ष फरवरी का महीना पिछले कई वर्षो की तुलना में सबसे गर्म रह सकता है। उधर, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक मंगलवार को अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री अधिक 31.5 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर पर 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 36 से 100 फीसद दर्ज किया गया। वहीं, स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स इलाके में तापमान 33.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। यहां न्यूनतम तापमान भी सबसे अधिक 15.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पीतमपुरा में अधिकतम तापमान 32.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

वहीं, स्काईमेट वेदर के विज्ञानियों के मुताबिक दिल्ली में सामान्य तौर पर फरवरी का पहला सप्ताह 23 डिग्री सेल्सियस के औसत तापमान के साथ शुरू होकर 26 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचता है, ऐसे में पूरे माह का औसत तापमान 24 डिग्री सेल्सियस तक रहता है। लेकिन, बीते तीन सप्ताह की बात करें तो इस बार औसत अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस को पार कर चुका है और जिस तरह से लगातार तापमान बढ़ रहा है औसत तापमान 27 डिग्री सेल्सियस को भी पार कर सकता है।

2016 में फरवरी का औसत तापमान 26 डिग्री सेल्सियस था। 2017 में यह 25.9 डिग्री सेल्सियस रहा था। 2017 में 21 फरवरी को सबसे अधिक 32.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं, इस वर्ष और पिछले वर्षो की तुलना करें, तो 2020 का फरवरी काफी ठंडा रहा था।

दिल्ली एयर इंडेक्स 250 हुआ दर्ज

उधर, मंगलवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) मंगलवार को 250 दर्ज किया गया। एनसीआर के शहरों की बात करें तो गाजियाबाद का एक्यूआइ 320, नोएडा का 214, फरीदाबाद का 296, ग्रेटर नोएडा का 253 व गुरुग्राम 241 रहा। बुधवार सुबह से दिल्ली-एनसीआर में स्मॉग नजर आया, जिससे लोगों ने आंखों में जलन की भी शिकायत की है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप