जागरण संवाददाता, बहजोई: किसानों के स्थानीय और राष्ट्रीय मुद्दों को लेकर धनारी में धरना प्रदर्शन कर रहे भारतीय किसान यूनियन के द्वारा पहले से राष्ट्रीय महापंचायत का ऐलान किया गया है, जिसके अंतर्गत आज धनारी पर हजारों की तादाद में किसानों की भीड़ उमड़ने वाली है। महापंचायत में अगर प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता विफल रहती है तो किसान हाईवे जाम कर सकते हैं। ऐसे में जिला प्रशासन को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बहरहाल अभी जिला प्रशासन की ओर से भागी और संगठन के नेतृत्व के साथ वार्ता का प्रयास नहीं किया गया है।

भाकियू के प्रदेश प्रमुख महासचिव विजेंद्र सिंह यादव ने बताया कि नौ सूत्रीय मांगों को लेकर किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इसके संबंध में अधिकारियों से बातचीत करने का प्रयास किया गया, लेकिन आश्वासन के अलावा किसानों की बात नहीं सुनी गई, जिसके चलते संगठन की ओर से 23 नवंबर को राष्ट्रीय महापंचायत बुलाने का ऐलान किया गया। इसको लेकर किसानों के द्वारा दो सप्ताह से प्रचार प्रसार चल रहा है और धनारी पर सोमवार को राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी समेत देशभर के किसान एकत्रित होंगे। जिलाध्यक्ष शंकर सिंह यादव ने बताया कि राष्ट्रीय महापंचायत को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। अगर प्रशासन के द्वारा हमारी मांगे नहीं मानी जाती हैं तो हमने आर-पार की लड़ाई होगी। अमर सिंह राजपूत, संजीव यादव, कुंवर पाल यादव, राजेश यादव, राकेश यादव, दुर्गपाल कुशवाहा, मुलायम सिंह,भूदेव सिंह, झाजन सिंह, जबर सिंह, स्वामी सिंह, रामवीर सिंह, अजय पाल, नरेश शर्मा, सुदेश यादव, वाली कुशवाहा आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस