संवाद सहयोगी, हीरानगर: पहले लगातार होती रही बारिश और अब कोहरे से आलुओं की पैदावार पर भी असर देखने लगा है। क्षेत्र में कुछ जगहों पर आलू की फसल के पौधे पीले पड़ने लगे हैं, जबकि कुछ जगहों पर पौधे तो हरे हैं लेकिन उनके नीचे फल नहीं लग रहा।

किसान जनक राज व बोधराज का कहना है कि पाच कनाल में उन्होंने आलू की खेती कर रखी है और बीज दुकान से लिया था, लेकिन अब पौधे बिल्कुल मुरझा गए हैं। वहीं दूसरे खेतों में पौधे तो हरे हैं, लेकिन उनकी जड़ों में फल नहीं बन रहा। किसानों का कहना है कि उन्हें समझ में नहीं आ रहा कि फसल किसी रोग की बजह से पीली पड़ रही है या फिर कोहरा पड़ने से फल बनना बंद हो गया है। किसानों ने कृषि विभाग के अधिकारियों से फसल को बचाने के उपाय बताने की माग की है। वहीं कृषि विभाग हीरानगर सब डिवीजन के एसडीओ प्रदीप शर्मा का कहना है कि क्षेत्र में इस बार 90 हेक्टेयर पर आलू की फसल लगी हुई है, जिसके लिए 50 क्विंटल बीज विभाग ने दिया था। कोहरे के अलावा बीमारी लगने से भी पौधों के पत्ते मुरझा सकते हैं। शुक्रवार को क्षेत्रीय कर्मचारी गावों में जाकर जाच करेंगे तथा फसल को बचाने के उपाय भी बताएंगे।

बहरहाल, परेशान किसानों ने कहा कि अगर जल्द ही कोई समाधान नहीं बताया गया तो काफी आर्थिक नुकसान होगा, जिसका खामियाजा सालभर तक भुगतना पड़ेगा। हालांकि, कृषि विभाग की एक विशेष टीम जांच करने के लिए पहुंच रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021