संवाद सहयोगी, बसोहली: नगरी इन दिनों प्रभु कृष्ण के नाम में रम गई है। एक ओर जहां आनंद भवन में महारुद्र यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है, वहीं पूर्व मंत्री प्रेम सागर अजीज द्वारा तुलसी का विवाह रचा गया है, जिसके प्रथम चरण में रविवार को शगुन रवाना हुआ।

करीब दस बजे सुबह पूर्व मंत्री प्रेम सागर के घर से शगुन ले जाने के लिए उनके पुत्र मुनीष एवं बसोहली नगरीवासी ढोल बाजे के साथ रवाना हुए, जिसमें 21 शास्त्रीजनों ने मंत्रोचारण करने के साथ रवाना किया। गली गली में कृष्ण भगवान के जयकारे जोर जोर से लग रहे थे। जहा जहा से शगुन जा रहा था, लोग अपने घरों की छत से फूल बरसा रहे थे। चामुंडा माता मंदिर की गली से होते हुए रामलीला मैदान होते हुए कपूर मुहल्ले से बसोत्रा मुहल्ले से सैरी मुहल्ले स्थित सत्संग भवन पहुंचा, जहा पर महिला मंडली द्वारा भव्य स्वागत किया गया। शगुन की पूरी धाíमक रीति रिवाज किए गए, इसके बाद भगवान कृष्ण की मूíत के पास शगुन को रखा गया और उन्हें सोने चादी के जेवर दिए गए। इसके उपरात महिला मंडली द्वारा प्रीती भोज का आयोजन किया गया, जिसमें शगुन ले कर आने वाली मंडली ने भोजन किया। विदाई के समय महिला मंडली द्वारा मीठाइया एवं शगुन के पैसे देकर रवाना किया गया। तुलसी विवाह को लेकर महिला मंडली में भी उत्साह दिखा, जिन्हें सहयोग करने के लिए कस्बे के विभिन्न वार्ड से समाजसेवी अपनी ओर से कार सेवा कर रहे थे। इस दौरान श्रद्धालुओं में खासा उत्साह दिखा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस