कानपुर, जेएनएन। शहर के मौसम के तो फरवरी में ही मार्च जैसे हाल होने लगे हैं। तापमान में पिछले तीन से चार दिन से बढ़ोतरी जारी है और हवा सामान्य से तेज चल रही है, जबकि उसका कोई खास असर नहीं है। सुबह और शाम को जहां हल्की सर्दी पड़ रही है, वहीं दोपहर में गर्मी का प्रकोप होने लगा है। एक के बाद सक्रिय हो रहे पश्चिमी विक्षोभ ने उत्तर पश्चिमी हवा को रोक दिया है। एक पश्चिमी विक्षोभ चीन की ओर निकल गया है, जबकि दूसरा जम्मू कश्मीर के पास सक्रिय है। तीसरा पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान के पास विकसित हुआ है। वातावरण में आर्द्रता कम और ज्यादा होनी शुरू हो गई है।

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि लगातार पश्चिमी विक्षोभ की वजह से उत्तर पश्चिमी ठंडी हवा पर ब्रेक लग गया है। प्रदेश के पास कोई मौसमी सिस्टम भी नहीं है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से उत्तर-पूर्वी और इससे सटे मध्य पाकिस्तान के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र विकसित हो गया है। दक्षिण-पूर्वी अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना है।

विपरीत चक्रवाती सिस्टम दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश और इससे सटे विदर्भ के ऊपर दिखाई दे रहा है। मंगलवार को अधिकतम तापमान 29.0, न्यूनतम 12.8 डिग्री सेल्सियस, हवा की औसत गति 5.1 किलोमीटर प्रति घंटे, अधिकतम आर्द्रता 84 फीसद रिकार्ड हुई। सोमवार को अधिकतम तापमान 27.6, न्यूनतम 12.0 डिग्री सेल्सियस हुआ। हवा की औसत गति 3.6 किलोमीटर प्रति घंटे, अधिकतम आर्द्रता 76 फीसद रिकार्ड हुई।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप