पटना। अचार की खुशबू, फूलों की महक और नई डिजाइन के कपड़ों के साथ महिला विकास निगम की ओर से गुरुवार को ज्ञान भवन में महिला उद्यमी मेला का आयोजन शुरू किया गया। आयोजन की शुरुआत भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी ने दीप प्रज्ज्वलित कर की। उन्होंने कहा, महिला सशक्तीकरण पर राज्य सरकार हमेशा काम करती आ रही है और ये मेला उसका ही एक उदाहरण है।

उन्होंने कहा, कोरोना के दौरान कैसे हम इन उद्यमियों को अच्छा मार्केट और प्रोत्साहन दे सकते हैं, इसको ध्यान में रखते हुए मेले का आयोजन किया गया है। मेले में कोरोना की गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है और यहां आने वाले लोगों से भी आग्रह है कि मास्क लगाएं और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। 150 स्टॉलों में दिख रहीं अलग-अलग खूबियां :

उद्यमी मेले में 150 महिला उद्यमियों ने अपना स्टॉल लगाया है, जिसमें 70 स्टॉल महिला उद्योग संघ के हैं और 50 जीविका समूहों के। इसके साथ 30 स्टॉल महिला विकास निगम और स्वउद्यमियों को दिया गया है। बिहार के अलग-अलग स्वाद व संस्कृति को दिखा रहा मेला :

मेले में बिहार की अलग-अलग संस्कृति और स्वाद को दिखाया गया है। मेले में एक तरफ जहां गांव की खुशबू जैसे चूड़ा, गुड़ और तरह-तरह के खाने के सामान से साथ ही चूड़ी, कपड़े और मास्क के अलग-अलग डिजाइन और रेंज देखने को मिल रहे हैं। साड़ी पर दिखा नमामि गंगे का असर :

मेले में सबसे आकर्षण का केंद्र श्रेया द्वारा बनाई गई साड़ी है। इसकी लंबाई 42.5 मीटर है और श्रेया की इस उपलब्धि को गिनीज बुक में भी स्थान मिल चुका है। श्रेया ने बताया कि इस साड़ी का निर्माण करने में उन्हें दो से तीन महीने का समय लगा और यह पेंटिंग काशी घाट पर ही बनाती थी। कोरोना किट वाले पौधे कर रहे लोगों को आकर्षित :

इस बार उद्यमी मेले में महिला उद्यमी नमिता द्वारा पौधों का स्टॉल लगाया गया है। इसमें लोगों को कोरोना किट वाले पौधे आकर्षित कर रहे हैं। नमिता के अनुसार कोरोना किट में तुलसी व नीम के साथ गिलोय को रखा गया है, ये सारे पौधे रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। इस किट की कीमत 200 रुपये है। वहीं, इस बार मेले में स्टॉब्रेरी के पौधे भी लोगों को लुभा रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021